वाशिंगटन (पीटीआई)। अमेरिका ने अपने नागरिकों को आतंकवाद के कारण पाकिस्तान की यात्रा पर पुनर्विचार करने की सलाह दी है। उसने कहा है कि वे बलूचिस्तान, खैबर पख्तूनख्वा और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में यात्रा नहीं करें, जो आतंकी हमलों के कारण सबसे खतरनाक क्षेत्रों के रूप में पहचाने जाते हैं। जबकि पाकिस्तान को सामान्य रूप से सोमवार को अमेरिका द्वारा जारी नवीनतम यात्रा एडवाइजरी में 'लेवल तीन' श्रेणी में रखा गया है। इसी लिस्ट में बलूचिस्तान, केपीके प्रांत, पीओके और भारत-पाकिस्तान सीमा सहित देश के कई हिस्सों को सबसे खतरनाक 'लेवल फोर' श्रेणी में रखा गया है। यही कारण है कि अमेरिका ने अपने नागरिकों को आतंकवाद के कारण उन इलाकों में यात्रा नहीं करने की सलाह दी है।

आतंकवादी हमले की रच रहे साजिश
विदेश विभाग ने यात्रा सलाहकार के हवाले से कहा, 'पाकिस्तान के भीतर या आसपास चल रहे नागरिक उड्डयन के जोखिमों के कारण, संघीय विमानन प्रशासन (FAA) ने एयरमेन (NOTAM) और एक विशेष संघीय उड्डयन विनियमन (SFAR) को नोटिस जारी किया है। आतंकवादी समूह पाकिस्तान में संभावित हमलों की साजिश रच रहे हैं, वह बिना किसी चेतावनी के परिवहन हब, बाजार, शॉपिंग मॉल, सैन्य प्रतिष्ठान, हवाई अड्डे, विश्वविद्यालय, पर्यटन स्थल, स्कूल, अस्पताल और अन्य स्थानों पर हमला कर सकते हैं।' उन्होंने कहा कि आतंकवादियों ने पिछले दिनों अमेरिकी राजनयिकों और राजनयिक सुविधाओं को लक्षित किया था और कुछ जानकारी से पता चलता है कि वे आगे भी ऐसा करने वाले हैं।

किम जोंग बोले, अगर अमेरिका का रवैया रहा सही तो हम भी तीसरी बार ट्रंप से मिलने को तैयार

हमलों के कारण सैकड़ों लोग हुए हताहत
विदेश विभाग ने कहा कि बलूचिस्तान और खैबर पख्तूनख्वा सहित पूरे पाकिस्तान में आये दिन आतंकवादी हमले होते रहते हैं। इन हमलों के चलते सैकड़ों लोग हताहत हुए हैं। उन्होंने कहा, 'हमलों के कारण बलूचिस्तान प्रांत की यात्रा न करें।' इसी तरह, पीओके और केपीके प्रांत में भी अमेरिकी विदेश विभाग ने अपने नागरिकों को यात्रा नहीं करने की सलाह दी है।

International News inextlive from World News Desk