वाशिंगटन (पीटीआई)। चीन के साथ छिड़ी कारोबारी जंग के बीच अमेरिका ने एक और बड़ा कदम उठाया है। इससे दोनों देशों में तनाव और बढ़ सकता है। ट्रंप प्रशासन ने कहा है कि वह चीन को किए जाने वाले असैन्य परमाणु तकनीक के निर्यात पर लगाम लगाएगा। ट्रंप प्रशासन का दावा है कि चीन अपनी नई पीढ़ी की पनडुब्बियों, विमानवाहक पोत और परमाणु ऊर्जा संयंत्रों के लिए संवेदनशील अमेरिकी तकनीक हासिल करने के प्रयास में है।अमेरिका के ऊर्जा विभाग ने गुरुवार को इस संबंध में किए जाने वाले उपायों की घोषणा की। ऊर्जा मंत्री रिक पेरी ने कहा, 'अमेरिका-चीन असैन्य परमाणु सहयोग के तहत स्थापित प्रक्रिया से इतर परमाणु तकनीक हासिल करने के चीन के प्रयासों से उपजी राष्ट्रीय सुरक्षा संबंधी चिंताओं को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता।'

राष्ट्रीय सुरक्षा के हित में कदम
उन्होंने कहा कि अमेरिकी कंपनियों से परमाणु सामग्री, उपकरण और उन्नत प्रौद्योगिकी प्राप्त करने के चीन के प्रयासों से उपजी चिंताओं के मद्देनजर अमेरिकी सरकार ने अपनी नीतियों की समीक्षा की और राष्ट्रीय सुरक्षा के हित में कदम उठाए। नई नीति के तहत चाइना जनरल पॉवर ग्रुप से ताल्लुक रखने वाली किसी भी इकाई को ना तो नया लाइसेंस दिया जाएगा और ना ही पुराने लाइसेंस की अवधि बढ़ाई जाएगी। चीन के चाइना जनरल पॉवर ग्रुप पर अमेरिकी परमाणु तकनीक चुराने की साजिश रचने का आरोप है।

परमाणु बढ़त के लिए दशकों से जुटा है चीन
ट्रंप प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, 'चीन दशकों से परमाणु बढ़त पाने की ठोस रणनीति पर काम कर रहा है। इसके लिए वह सक्रियता के साथ हमारी उन्नत परमाणु तकनीक हासिल करने का प्रयास कर रहा है। वह इसका सैन्य उपयोग कर अपनी तीसरी पीढ़ी की परमाणु ऊर्जा से चलने वाली पनडुब्बी बनाने की फिराक में है। वह परमाणु ऊर्जा से चलने वाले विमानवाहक पोत और दोहरे इस्तेमाल के लिए परमाणु ऊर्जा से चलने वाले संयंत्रों का भी विकास करना चाहता है।'

गोपनीय जानकारी चुराने में चीनी अधिकारी गिरफ्तार
परमाणु तकनीक पर सख्त कदम उठाए जाने से एक दिन पहले ही अमेरिका के न्याय विभाग ने एक चीनी खुफिया अधिकारी को गिरफ्तार करने की घोषणा की थी। उस पर जीई एविएशन की गोपनीय जानकारी चुराने के आरोप लगाए गए हैं। यह जेट इंजनों की आपूर्ति करने वाली प्रमुख कंपनियों में शुमार है।

चीन की मदद से श्रीलंका बना रहा नया महानगर जो हांगकांग, दुबई को देगा टक्‍कर

श्रीलंका के खिलाफ सीरीज जीतने के बाद आईसीसी टी-20 रैंकिंग में टीम इंडिया दूसरे स्थान पर

International News inextlive from World News Desk