वाशिंगटन (पीटीआई)। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को ईरान के लोहा, स्टील, एल्यूमीनियम और तांबा क्षेत्रों पर सख्त प्रतिबंध लगाए हैं। अब वह विदेशों में इन धातुओं को एक्सपोर्ट नहीं कर सकता है। बता दें कि तेहरान को परमाणु हथियार और इंटरकॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल हासिल करने से रोकने व मिडिल ईस्ट में इसके 'घातक प्रभाव' का मुकाबला करने के उद्देश्य से एक कदम उठाया गया है। इससे पहले अमेरिका ने ईरान के तीन बड़े एक्सपोर्ट- तेल, पेट्रोकेमिकल और मेटल पर प्रतिबंध लगाया था। व्हाइट हाउस ने अपने एक बयान में कहा ट्रंप प्रशासन ईरान पर पहले से कहीं अधिक सख्त प्रतिबंध लगा रहा है क्योंकि देश विनाशकारी गतिविधियों में संलग्न है।

ईरान दे रहा है आतंकवाद को बढ़ावा
व्हाइट हाउस ने कहा, 'ईरानी शासन ने अपनी परमाणु महत्वाकांक्षाओं को बनाए रखा है और अपनी बैलिस्टिक मिसाइल क्षमताओं को विकसित करने और आतंकवाद को बढ़ाने में जुटा है। अमेरिका सख्ती से अपने प्रतिबंधों को लागू करेगा और जो लोग ईरान से धातुओं का इम्पोर्ट बंद नहीं करेंगे, उन्हें गंभीर परिणाम भुगतने होंगे।' इसके बाद ट्रंप ने कहा कि ईरान के लोहा, स्टील, एल्युमीनियम और तांबा सेक्टर पर प्रतिबंध लगाने के आदेश पर दस्तखत हमने कर दिए हैं। ईरान पर आर्थिक दबाव डालने के लिए यह कदम उठाया गया है। लोहा, स्टील, एल्यूमीनियम और तांबा क्षेत्रों से ईरान की काफी कमाई होती है, जिसका उपयोग वह हथियार खरीदने और आतंकवाद को बढ़ाने में करता है। उन्होंने कहा कि अमेरिका किसी भी तरह से ईरान को परमाणु हथियार और अंतरमहाद्वीपीय (इंटरकॉन्टिनेंटल) बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रम को हासिल करने से रोकना चाहता है।

ईरानी राष्ट्रपति रूहानी ने कहा, विश्व आतंकवाद का लीडर है अमेरिका

ईरान को चेताने के लिए मिडिल ईस्ट में युद्धपोत और बमवर्षक तैनात कर रहा अमेरिका


शर्तों को मानने से किया इनकार
बता दें कि ईरान ने बुधवार को 2015 में हुई परमाणु समझौते की कुछ शर्तों को मानने से इनकार कर दिया था। इसके बाद अमेरिका ने उस पर नए प्रतिबंध लगाने की घोषणा की। इस समझौते में ईरान, रूस, चीन, फ्रांस, यूके और जर्मनी शामिल हैं। पिछले साल अमेरिका ने खुद को इस समझौते से अलग कर लिया था। इसके बाद से दोनों देशों के बीच तनाव शुरू हो गया। अमेरिका ने तेहरान के तेल निर्यात को पूरी तरह से खत्म करने के लिए वहां कई प्रतिबंध लगा दिए।

International News inextlive from World News Desk