टैक्स जमा न करने वाले व्यापारियों के खिलाफ होगी कार्रवाई

डिप्टी कमिश्नर व असिटेंट कमिश्नर को दी गई चेतावनी

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: जीएसटी लागू होने के बाद सेल्स टैक्स डिपार्टमेंट को व्यापारिक संस्थाओं से टैक्स बढ़ने की उम्मीद थी. लेकिन दिसंबर में राजस्व घट गया है. पूरे प्रदेश में दिसंबर में केवल 84.8 प्रतिशत राजस्व वसूली हुई है. ऐसे में कमिश्नर वाणिज्य कर कामिनी चौहान रतन ने सेल्स टैक्स डिपार्टमेंट के सभी अधिकारियों को टैक्स वसूलने का आदेश दिया है. जिसके लिए टाइम फिक्स किया है.

कमिश्नर के आदेश पर टीम एक्टिव

राजस्व वसूली में आ रही कमी को देखते हुए कमिश्नर वाणिज्य कर कामिनी चौहान रतन ने दिसंबर-2017 का रिटर्न दाखिल न करने वाले व्यापारियों के खिलाफ कार्रवाई का आदेश दिया है. डिप्टी कमिश्नर व असिस्टेंट कमिश्नर को व्यापारियों से बकाया रिटर्न वसूलने की जिम्मेदारी सौंपी गई है. कमिश्नर के आदेश पर टीम एक्टिव हो गई है.

आरसी जारी कर होगी वसूली

सेल्स टैक्स डिपार्टमेंट में डिप्टी कमिश्नर तक के सभी अधिकारियों को हर हाल में पंद्रह फरवरी तक अपने स्तर के वादों का निस्तारण करने और टैक्स वसूलने का आदेश दिया गया है. असिस्टेंट कमिश्नर स्तर के अधिकारियों के लिए 28 फरवरी लास्ट डेट निर्धारित है. ये भी कहा गया है कि जिन व्यापारियों ने अभी तक टैक्स जमा नहीं किया है, उन्हें आरसी जारी कर वसूली की जाए.

50 बिल पर डे का दिया टार्गेट

9 फरवरी से एक बार फिर उत्तर प्रदेश में स्टेट ई-वे बिल लागू होने पर सचल दल को एक्टिव कर दिया गया है. सीमावर्ती इलाकों से आने वाले लोडेड वाहनों की 24 घंटे निगरानी का आदेश दिया गया है. यही नहीं सचल दल की प्रत्येक टीम को पर डे कम से कम 50 बिल कलेक्ट करने का टार्गेट फिक्स किया गया है.

राजस्व की चोरी करने वाले व्यापारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए, जांच की जाए, लेकिन कार्रवाई के नाम पर व्यापारियों का उत्पीड़न न किया जाए. कमिश्नर के आदेश का सख्ती से पालन किया जाए.

संतोष पनामा

संयोजक

उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधिमंडल