कानपुर। लोकसभा चुनाव 2019 के दूसरे चरण में उत्तर प्रदेश की आठ सीटों (नगीना, अमरोहा, बुलंदशहर, अलीगढ़, हाथरस, मथुरा, आगरा और फतेहपुर सीकरी) पर आज यानी कि 18 अप्रैल को मतदान हुआ। 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में इन आठ सीटों पर 61.95 परसेंट वोटर्स ने मतदान किया था। फतेहपुर सीकरी में 60 परसेंट तो आगरा में इस बार 2014 की तुलना में थोड़ा कम मतदान हुआ। आइये जानें पिछली बार यानी 2014 के लोकसभा चुनाव की तुलना में इस बार मथुरा, आगरा और फतेहपुर सीकरी में वोटिंग प्रतिशत कितना कम या अधिक रहा।

फतेहपुर सीकरी लोकसभा सीट

फतेहपुर सीकरी लोकसभा सीट पर इस बार 60.03 प्रतिशत मतदान हुआ है। फतेहपुर सीकरी की सीट से बीजेपी ने राजकुमार चाहर को मैदान में उतारा था तो कांग्रेस ने भी अभिनेता राज बब्बर को टिकट दिया। पहले कांग्रेस ने राज बब्बर को मुरादाबाद सीट से चुनाव लड़ाने का फैसला लिया था लेकिन बाद में सीट बदल दी थी। वहीं महागठबंधन ने श्रीभगवान शर्मा उर्फ गुड्डू पंडित (बसपा) को प्रत्याशी घोषित किया। पिछले लोकसभा चुनाव में यहां 61.28 परसेंट लोगों ने अपने मताधिकार का उपयोग किया था। 2014 की तुलना में इस बार यहां करीब एक प्रतिशत कम लोगों ने मतदान किया है।

Lok Sabha Election 2019 Phase 2 : दिग्गजों ने डाले वोट, दिखाए निशान

Lok sabha Elections 2019 2nd Phase Live Update: फतेहपुरसीकरी के मगोरी कला में मतदान का बहिष्कार, अभी तक नही पड़ा एक भी वोट


आगरा लोकसभा सीट
आगरा सीट पर इस बार कुल 58.55 प्रतिशत लोगों ने अपने मताधिकार का उपयोग किया है। इस सीट पर बीजेपी के सत्यपाल सिंह बघेल का मुकाबला कांग्रेस की प्रीता हरित से है। वहीं महागठबंधन ने मनोज कुमार सोनी (बसपा) को मजबूत दावेदार के रूप में उतारा। लोकसभा चुनाव 2014 में यहां 58.98 परसेंट मतदान हुआ था। पिछली बार की तुलना में इस बार का यहां का वोटिंग प्रतिशत थोड़ा पीछे रहा है।

मथुरा लोकसभा सीट
मथुरा सीट पर इस बार 60.20 फीसद मतदान हुआ है। मथुरा लोकसभा सीट पर बीजेपी ने एक बार फिर अभिनेत्री हेमा मालिनी पर भरोसा जताया है। सांसद हेमा मालिनी बीजेपी की ओर से दूसरी बार चुनावी मैदान में उतरी हैं। वहीं उनके सामने यहां पर कांग्रेेस की ओर महेश पाठक खड़े हैं। वहीं इन बीजेपी और कांग्रेस के प्रत्याशियों का मुकाबला करने के लिए महागठबंधन प्रत्याशी नरेंद्र सिंह मैदान में उतरे थे। 2014 के लोकसभा चुनाव में यहां 64.10 प्रतिशत लोगों ने मतदान किया था। पिछली बार की तुलना में इस बार यहां 3.90 फीसद मतदान में गिरावट दर्ज की गई है।