DEHRADUN: लोकसभा चुनाव में मतदान के दौरान 11 अप्रेल को प्रदेश में अजब नजारे देखने को मिलेंगे। प्रदेश में कई बूथ ऐसे भी हैं, जिन पर सिर्फ नाम मात्र के वोटर हैं, लेकिन इस वोटर्स के मताधिकार का इस्तेमाल करने का पूरा इंतजाम किया गया है। प्रदेश में दो बूथों पर सिर्फ 14-14 वोटर हैं। इसके साथ ही कुछ बूथ पहाड़ी एरिया में होने के बावजूद सबसे अधिक वोटर वाले हैं। नैनीताल का दमुआढुंगा सबसे अधिक 1501 वोटर वाला बूथ है। देहरादून के दो बूथ भी टॉप 5 में शामिल हैं। यही नहीं प्रदेश में दुर्गम एरियाज की स्थिति ऐसी है कि कई बूथ सड़क मार्ग से 20 किमी से अधिक दूर हैं, यहां खच्चर पर पोलिंग पार्टी और कुली पोलिंग का सामान ले जाएंगे।

सबसे कम वोटर वाले पोलिंग बूथ
प्रदेश के पौडी गढवाल सीट पर यमकेश्वर ब्लॉक मं लालढांग और इसी सीट पर कोटद्वार में ढिकाला दो ऐसे पोलिंग बूथ हैं, जिनमें सिर्फ 14-14 वोटर हैं। मिनिमम वोटर वाले पोलिंग बूथों में इसके बाद पौडी गढ़वाल के ही लैंस डोन में पांड बूथ पर 34 वोटर हैं। टिहरी सीट के देवप्रयाग में भसौन बूथ पर 48 और रूद्रप्रयाग जिले के केदारनाथ में रैल 51 वोटर वाला पोलिंग बूथ है।

सबसे अधिक वोटर वाले बूथ
नैनीताल सीट के हल्द्वानी जवाहर ज्योति दमुआढूंगा रोड नं.1 सबसे अधिक 1501 वोटर वाला पोलिंग बूथ है। दूसरे नंबर पर अल्मोडा का रानीखेत ईस्ट पार्ट 1472 वोटर, तीसरे नंबर पर हरिद्वार में गणेशपुर रूड़की रोड नं। 3 के बूथ पर 1468 वोटर, चौथे नंबर पर देहरादून का सेलाकुई रोड नं। 2 पोलिंग बूथ 1452 वोटर, और पांचवे नंबर पर देहरादून में ही कारगी ग्रांट रोड नं। 1 पोलिंग बूथ 1450 वोटर के साथ प्रदेश के पांच सबसे बड़े पोलिंग बूथ है।

सड़क मार्ग से 20 किमी दूर तक पोलिंग बूथ
प्रदेश में पोलिंग पार्टियों को चुनाव कराने के लिए कई ऐसे बूथ तक पहुंचना होगा,जिनकी दूरी सड़क मार्ग से 20 किमी तक हैं। सड़क मार्ग से सबसे अधिक दूरी पर चमोली में डुमक प्राइमरी स्कूल में बना गया पोलिंग बूथ सबसे अधिक दूर दराज का बूथ है। इसकी सड़क मार्ग से दूरी 20 किमी है। इसके अलावा टिहरी का घुडसाल गांव में पंचायत घर पोलिंग बूथ 19 किमी दूर, चमोली का कलगोठ प्राइमरी स्कूल पोलिंग बूथ 18 किमी, उत्तरकाशी जिले का पिलंग प्राइमरी स्कूल 18 किमी और पिथौरागढ़ का कनार प्राइमरी स्कूल पोलिंग बूथ सड़क मार्ग से 18 किमी दूर है। यहां के लिए मंगलवार रात को ही पोलिंग पार्टियां रवाना कर दी गई।