-मशकबीन व रणसिंघा की गगनभेदी तान, रंग बिरंगी पारंपरिक पोशाक पहने सड़क पर उतरे कलाकार

-रंगयात्रा के साथ उत्तरायणी मेला का रंगारंग हुआ आगाज, बरेली क्लब मैदान में पहाड़ों की बिखरी छटा

: मशकबीन और रणसिंघा की गगनभेदी तान, रंग बिरंगी पारंपरिक पोशाक पहने कलाकर सड़क पर निकले तो मैदान में पहाड़ों नजारा उतर आया. मौका था उत्तरायणी जनकल्याण समिति की ओर से आयोजित उत्तरायणी मेले के रंगारंग आगाज का. सैटरडे को जहां रंगयात्रा में शामिल छोलिया टीम के मनमोहक लोकनृत्य को देखने के लिए हर कोई आतुर नजर आया. एडीजी प्रेमप्रकाश ने रंगयात्रा का इनॉग्रेशन किया. इसमें कलाकारों ने देवभूमि की अद्भुत संस्कृति का प्रदर्शन करते हुए शहरवासियों को रोमांचित किया.

डीएम ने किया मेले का इनॉग्रेशन

शोका समाज, पिछौड़ा परिधान में सजी बालिकाओं ने कुमांऊंनी संस्कृति की छटा बिखेरी. हालांकि इस दौरान विभिन्न स्कूली बच्चों ने भी शामिल होकर कलाकारों का उत्साह बनाए रखा. शहर के विभिन्न मार्गो से होते हुए रंगयात्रा बरेली क्लब पहुंची. बरेली क्लब मैदान में उत्तरायणी मेले का डीएम वीरेंद्र कुमार सिंह ने दीप प्रज्जवलित कर शुभारंभ किया. संयुक्त आयकर आयुक्त एसबी सिंह ने स्मारिका का विमोचन किया. मेला शुभारंभ के बाद मंच पर सरस्वती वंदना और स्वागत गीत के साथ गढ़वाल और कुमाऊं का लोकनृत्य, लोकगीतों ने धूम मचा दी. झोड़ा, चांचरी, छपेली गीतों ने मन मोह लिया. मेले में महिलाएं चुंग वाला तो पुरुष कलाकार रंगा पहने हुए थे. मेले में पीसी पाठक, भुवन पांडेय, सुरेंद्र सिंह विष्ट, रमेश चंद्र शर्मा, देवेंद्र जोशी, भूपाल सिंह बिष्ट, जेसी बेलवाल, मोहन पाठक, केपीएस बिष्ट, गिरीश पांडेय, आनंद सिंह भंडारी, नीता जोशी, हेमा पांडेय आदि मौजूद रहे.

मेले में पहाड़ी खाद्य व हस्तशिल्प के उत्पाद

मेले में 150 से अधिक स्टॉल्स लगाए गए हैं, जिन पर हस्तशिल्प और पहाड़ी खाद्य व अन्य उत्पादों को खरीदने की भीड़ लगी रही, जिनमें कुमाऊं का आचार, सिंगौड़ी, बाल मिठाई, गढ़वाल की दाल, मसालों के स्टॉलों संग उत्तराखंड कुटीर उद्योग व स्वयं सहायता समूहों के स्टॉल शामिल रहे. जयपुर के चूरन, कोलकाता का काथा वर्क, देहरादून की खादी, चमकौर की सूखी डांग, रूद्रपुर के मसाले खरीदने के लिए भी स्टॉलों पर भीड़ उमड़ी.

अमित सागर ने आवाज का जादू बिखेरा

शाम ढलते ही मेले के मंच पर कलाकारों ने जलवा बिखेरा. चेत की चैतवाल गीत से सुर्खियों में आए श्रीनगर उत्तराखंड के सुपर स्टार एकल गायक अमित सागर ने मंच पर अपनी आवाज का जादू बिखेरा तो प्रांगण तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा. लोक गायिका खुशी जोशी, राजेंद्र मेहता व विपिन देव की टीम ने भी दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया.