20

परसेंट तक वोटिंग वाले भी कई बूथ हैं वाराणसी लोस क्षेत्र में

19

मई को इस बार 90 परसेंट तक वोटिंग का रखा गया है लक्ष्य

22

परसेंट ही वोटिंग हुई थी पिछले लोस चुनाव में बीएचयू में

-------

वाराणसी लोस क्षेत्र में कई ऐसे मतदान केंद्र जहां पड़ते हैं 20 से 24 परसेंट तक मत

जिला निवार्चन कार्यालय मतदाताओं को बूथ तक लाने के लिए लगा रहा एड़ी-चोटी का जोर

VARANASI

जिस लोक सभा क्षेत्र पर पूरी दुनियां की नजरें टिकी हैं, वहां कुछ ऐसे भी मतदान केंद्र हैं, जहां महज 20-24 परसेंट वोटर ही बूथ तक पहुंचते हैं। जबकि जिला निवार्चन कार्यालय ने इस बार 19 मई को 90 परसेंट तक वोटिंग का लक्ष्य रखा है। लेकिन उसकी राह में रोड़े ही रोड़े हैं क्योंकि लगभग 34 पोलिंग बूथ ऐसे हैं जहां 24 से 40 परसेंट तक वोटिंग हुई है। ये बूथ इस बार भी सभी के टेंशन का कारण बने हुए हैं। अब जिला निवार्चन कार्यालय इन बूथों के वोटर को बूथ तक लाने के लिए नुक्कड़ नाटक, चौपाल, खेलकूद आदि के साथ कई तरह के जागरूकता कार्यक्रम चला रहा है।

अपना रहे हर हथकंडा

स्वीप प्रभारी एवं सीडीओ गौरांग राठी ने बताया कि इन बूथों में अधिक से अधिक मतदान के लिए स्वीप की ब्रांड अंबेसडर नीलू मिश्रा और श्रवण कुमार की मौजूदगी में मतदाताओं को नुक्कड़ नाटक, वीवीपैट जागरूकता वैन के जरिए अधिक से अधिक मतदान के लिए प्रेरित किया जा रहा है। इसके अलावा ग्राम प्रधान और पार्षद की मदद से चौपाल लगाकर भी मतदान की अपील की जा रही है।

बीएचयू वाले भी हैं फिसड्डी

पिछली बार बीएचयू में सिर्फ 22 प्रतिशत वोट पड़े थे। इसलिए इस बार स्वीप ने बीएचूय के लिए अलग रणनीति बनाई है। नीलू मिश्रा ने बताया कि सर सुंदरलाल अस्पताल के पूर्व चिकित्सा अधीक्षक प्रो। बीएन मिश्रा की अगुवाई में परिसर में रह रहे चिकित्सक, पैरा मेडिकल स्टाफ और कर्मचारियों के घर जाकर गुलाब का फूल देकर मतदान जरूर करने का आग्रह किया जाएगा।

रेलवे कालोनी भी रडार पर

छित्तूपुर स्थित रेलवे कालोनी पर स्वीप की सबसे कड़ी नजर है। यहां के अधिकतर लोग बाहर के हैं। मतदान के दिन ये लोग घर चले जाते हैं। इससे यहां का मतदान प्रतिशत बहुत गिर जाता है। इस बार कालोनी के निवासियों से हर हाल में वोट देने का आग्रह किया जाएगा। रेलवे जूनियर हाई स्कूल छित्तूपुर के कक्ष संख्या छह में 412 मतदाता हैं, पिछली बार 146 ने ही वोट डाला था। रेलवे जनता विद्यालय छित्तपुर के कक्ष संख्या छह में 430 के बदले मात्र 154 मत पड़े थे। दोनों कक्षों का मतदान प्रतिशत 36 प्रतिशत से कम रहा।

विधानसभा वार मिनिमम वोटिंग वाले बूथ

विधानसभा बूथ

पिंडरा तीन

शिवपुर एक

रोहनिया आठ

उत्तरी चार

दक्षिणी एक

कैंटोमेंट 15

सेवापुर दो

नहीं होगा प्लास्टिक का यूज

पर्यावरण संरक्षण के लिए जिले में बनने वाले मॉडल पोलिंग स्टेशनों पर प्लास्टिक से बने सामानों का यूज नहीं होगा। मॉडल पोलिंग स्टेशन पर पर्यावरण संरक्षण से सम्बंधित पोस्टर भी लगे होंगे। इन पोलिंग स्टेशनों पर गर्मी को देखते हुए मतदाताओं के लिए छाछ और ठंडे पानी की व्यवस्था रहेगी। दोनों पेय पुरवे में ही दिए जाएंगे ताकि लोग मतदान को बोरिंग काम न समझ कर पिकनिक की तरह लें और घरों से भारी संख्या में मतदान केंद्र तक आएं।