- चौबेपुर में किसी की हत्या के इरादे से रेकी करते समय दबोचे गए

- बदमाशों के पास से हत्या में इस्तेमाल असलहा भी बरामद


VARANASI: चर्चित सपा नेता व नाविक प्रभु साहनी की हत्या में वांछित चल रहे इनामी बदमाश रिजवान अंसारी व अफरोज अंसारी को पुलिस ने दबोच लिया. दोनों किसी कारोबारी की हत्या के इरादे से चौबेपुर एरिया में रेकी कर रहे थे. चौबेपुर व चौक पुलिस ने गुरुवार की देर रात शाहपुर नहर, चौबेपुर के पास से घेरेबंदी कर दबोच लिया. रिजवान व अफरोज पर पुलिस ने दस-दस हजार रुपये इनाम घोषित कर रखा था. पकड़े गए बदमाशों के पास से दो पिस्टल, तीन कारतूस, मोबाइल फोन बरामद हुए. पुलिस लाइन में शुक्रवार को मीडिया से मुखातिब एसपी सिटी दिनेश सिंह व एसपीआरए अमित कुमार ने बताया कि बदमाशों ने कबूल किया है कि शिवकुमार साहनी ने प्रभु की हत्या के लिए तीन लाख रुपये में सुपारी दी थी. रिजवान व अफरोज को डेढ़-डेढ़ लाख मिलने थे. अभी तक उन्हें तीस हजार रुपये ही मिले थे. प्रभु को तीन गोली मारने वालों में शिव कुमार, रिजवान व अफरोज थे.

बदमाशों का जरायम से पुराना नाता

गिरफ्तार रिजवान व अफरोज का जरायम से पुराना नाता रहा है. रिजवान अंसारी का सगा भाई एजाज उर्फ सोनू अंसारी इस समय आजमगढ़ जेल में बंद है. वर्ष 2016 में रिजवान पुलिस मुठभेड़ के दौरान थाना रोहनिया क्षेत्र में अपनी गैंग के साथ पकड़ा गया था, चोरी की बाइक, असलहा व कारतूस बरामद हुए थे. रिजवान पर जिले के विभिन्न थानों में सात मुकदमे दर्ज हैं. अफरोज अहमद अंसारी पर भी चंदौली और वाराणसी में पांच मुकदमे हैं. बदमाशों को गिरफ्तार करने वाली टीम में चौबेपुर एसओ ओमनारायण सिंह, इंस्पेक्टर चौक राहुल शुक्ला, कश्यप कुमार सिंह, जमीलुद्दीन खान थाना चौक, बृजेश यादव आदि रहे.