-देश के मुख्य रेलवे स्टेशंस में शुमार हुआ बनारस का कैंट स्टेशन

-सर्कुलेटिंग एरिया में 30 गुना 20 फीट चौड़े लगे झंडे के सामने सेल्फी लेने की मची होड़

1ड्डह्मड्डठ्ठड्डह्यद्ब@द्बठ्ठद्ग3ह्ल.ष्श्र.द्बठ्ठ

ङ्कन्क्त्रन्हृन्स्ढ्ढ

रेलवे की ओर से कैंट स्टेशन पर सोमवार को 100 फीट ऊंचा राष्ट्रीय झंडा फहराया गया। देश के अन्य मुख्य रेलवे स्टेशन की तरह यहां भी सर्कुलेटिंग एरिया में झंडा लगा दिया गया है। दोपहर में स्टेशन पहुंचे लोगों ने जब कैंपस में राष्ट्रीय झंडे को देखा तो उसके सामने सेल्फी लेने की होड़ मच गयी। स्टेशन पर राष्ट्रीय ध्वज एडीआरएम रवि प्रकाश चतुर्वेदी ने फहराया। इसके बाद आरपीएफ, जीआरपी सहित जिला पुलिस के जवानों ने गार्ड ऑफ ऑनर देकर तिरंगे को सलामी दी। इस अवसर पर स्टेशन डायरेक्टर आनंद मोहन सहित अन्य ऑफिसर्स उपस्थित रहे।

दूर से भी देखा जा सकेगा

रेलवे की ओर से देश के प्रमुख स्टेशंस पर 100 फीट ऊंचा राष्ट्रीय झंडा लगाया जा रहा है। इसी क्रम में वाराणसी के कैंट रेलवे स्टेशन पर भी 30 गुना 20 फीट का झंडा लगाया गया है। झंडा इतना ऊंचा है कि शहर में दूर से भी इसे आसानी से देखा जा सकेगा। इसके साथ ही कैंट स्टेशन पर उतरने वाले पैसेंजर्स को भी कैंपस में विशाल राष्ट्रध्वज फहरते देख सुखद अनुभूति होगी। रेलवे के इस पहल की लोगों ने सराहना की है।

इंजन इतिहास से करा रहा रूबरू

कैंट स्टेशन पर दुनिया भर से लोगों का आना जाना रहता है। इससे पहले सर्कुलेटिंग एरिया में भाप इंजन लगाया जा चुका है। इसके पीछे यहां पहुंचने वाले लोगों को रेलवे के इतिहास से रूबरू कराना है। इसके अलावा स्टेशन के सुन्दरीकरण पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। यहां पैसेंजर्स अमेनटीज में दिन पर दिन बढ़ोतरी की जा रही है। दूसरी ओर मंडुआडीह रेलवे स्टेशन को भी बदलने का कार्य तेजी से चल रहा है। यहां सेकेंड एंट्री को एयरपोर्ट की तरह डेवलप किया गया है।