वाराणसी (आईएएनएस)। लोकसभा चुनाव के दाैरान भी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पीएम नरेंद्र मोदी के बीच बयानबाजी जारी है। ऐसे में राहुल गांधी द्वारा पीएम नरेंद्र मोदी पर की जाने वाली 'चौकीदार चोर है' को लेकर पीएम के समर्थकों में नाराजगी है। हाल ही में इसका एक उदाहरण देखने को मिला है। यूपी के वाराणसी के ककरहिया गांव में ग्रामीणों ने राहुल गांधी के गांव में प्रवेश पर रोक लगा दी है।

चोर कहने से राष्ट्र की गरिमा को ठेस पहुंची

इतना ही नहीं चुनाव में वोट मांगने आ रहे कांग्रेस पार्टी के नेताओं को भी अल्टीमेटम देते हुए गांव के लोगों ने पोस्टर लगा रखे हैं। इन पाेटर्स पर लिखा है कि  'यह चौकीदारों का गांव है, यहां आना मना है'। इस संबंध में एक ग्रामीण ने कहा कि प्रधानमंत्री को चोर कहने से राष्ट्र की गरिमा को ठेस पहुंची है। ऐेसे में हम नहीं चाहते कि ऐसे व्यक्ति हमारे गांव में कदम रखे। इसलिए हमने ये पोस्टर लगाए हैं।
तेज बहादुर यादव का नामांकन रद करने पर सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से मांगा जवाब
पीली कुर्ती वाली ने महिला ने एंटी करप्शन अफसर को हरी चप्पल से पीटकर किया लाल, वीडियो वायरल
पीएम मोदी ने इस गांव को गोद लिया था

वहीं स्थानीय बीजेपी कार्यकर्ताओं का कहना है कि 23 अक्टूबर, 2017 को पीएम ने  इस गांव को गोद लिया था। इस गांव में काफी विकास भी हुआ है। बता दें कि वाराणसी में सातवें चरण में 19 मई को मतदान होना है। बता दें कि हाल ही में राफेल मामले में राहुल गांधी ने सुप्रीम कोर्ट के हवाले से पीएम मोदी के लिए 'चौकीदार चोर है' का बयान दिया था। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने भी राहुल गांधी से जवाब मांगा था।

National News inextlive from India News Desk