चैटिंग और ऑडियो टेप प्रकरण को लेकर बढ़ा तनाव, वीसी ऑफिस पर जमकर हंगामा

दो दर्जन से अधिक छात्रनेताओं ने दी गिरफ्तारी, पुलिस लाइन ले जाकर छोड़ा

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: विश्वविद्यालय में बुधवार को 20 दिन के भीतर ज्वॉइन करने वाले वीसी का दूसरे ही दिन गुरुवार को उग्र विरोध हुआ. पूर्व छात्रसंघ पदाधिकारियों एवं छात्रनेताओं की अगुवाई में छात्रों के एक धड़े ने वीसी ऑफिस पर पहुंचकर जमकर हंगामा किया. हंगामे की जानकारी पाकर एसपी सिटी ब्रजेश श्रीवास्तव फोर्स लेकर पहुंचे. पुलिस ने दो बजे के बाद छात्रनेताओं और छात्रों को हट जाने के लिए कहा, लेकिन कोई नहीं हटा. इसके बाद पुलिस और पीएसी के जवानों ने दो दर्जन छात्रों को प्रिजन वैन में बैठा लिया और पुलिस लाइन ले गए, जहां से उन्हें कुछ घंटे बाद छोड़ दिया गया. इसके बाद वीसी को पुलिस ने सुरक्षा के बीच निकाला.

वीसी के पहुंचते ही बता दिया

विवि के छात्रनेताओं ने वीसी की कथित अश्लील चैटिंग और महिला के साथ बातचीत का ऑडियो वायरल होने के बाद चेतावनी दी थी कि यदि वीसी कैम्पस में घुसे तो इसके गंभीर परिणाम होंगे. बुधवार को वीसी ने ऑफिस ज्वॉइन कर लिया. गुरुवार सुबह 11 बजे के आसपास करीब 50 की संख्या में पूर्व छात्रसंघ पदाधिकारी, छात्रनेता और छात्र वीसी ऑफिस पहुंच गए. वीसी के ऑफिस में पहुंचते ही किसी ने बाहर जानकारी प्रसारित कर दी थी. इसके बाद छात्रों का धड़ा पहुंचा और वीसी गो बैक समेत अन्य आपत्तिजनक नारे लगाते हुए उन्हें कैम्पस से बाहर जाने के लिए ललकारा जाने लगा.

इन्हें लिया हिरासत में

एबीवीपी के राष्ट्रीय महामंत्री रोहित मिश्रा

पूर्व महामंत्री निर्भय द्विवेदी

पूर्व उपाध्यक्ष विक्रांत सिंह

एबीवीपी प्रांत कार्यकारिणी सदस्य नवीन मिश्रा

छात्रसभा के प्रदेश सचिव अरविन्द सरोज

नवीन पाठक, शेखर विक्रम सिंह, प्रणव अस्थाना, सूरज शुक्ला, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष दिनेश सिंह यादव, रजनीश सिंह रिशू, सूर्य प्रकाश मिश्रा, आनंद सिंह निक्कु, सुशील भारतीय, अभिषेक यादव, अंकित यादव आदि

परिषद के कार्यकर्ता राष्ट्रीय मंत्री की अगुवाई में विरोध को लेकर एकजुट हैं. हम किसी भी कीमत पर वीसी को यहां रहने नहीं देंगे. इसके लिए संघर्ष जारी रहेगा.

-नवीन मिश्रा, प्रांतीय कार्यकारिणी सदस्य एबीवीपी

पद के दुरुपयोग के आरोपी वीसी जब जब कैम्पस में आएंगे, हम तब तब उनका विरोध करेंगे. चाटुकार शिक्षकों का गुट हमारे विरोध की आवाज को दबा नहीं सकता.

-रोहित मिश्रा, राष्ट्रीय मंत्री एबीवीपी

कुछ विशेष लाभ पाए लोगों द्वारा वीसी की आगवानी में गुलदस्ता देकर स्वागत करना निंदनीय है. वीसी को पुलिस के दम पर परिसर छोड़कर जाना पड़ा. आगे भी उन्हें परिसर में काम नहीं करने देंगे.

-ऋचा सिंह, पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष व राष्ट्रीय प्रवक्ता सपा

विवि के छात्र स्वस्थ परंपरा के वाहक हैं. हम इविवि के गौरव को बचाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं. कुलपति को हटाने तक समाजवादी छात्रसभा अंत तक लड़ाई लड़ेगी. इसके लिए हम जेल जाने से भी नहीं हिचकेंगे.

-अरविन्द सरोज, प्रदेश सचिव समाजवादी छात्रसभा