- सीएसए में देश की सभी एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी के वीसी की कांफ्रेंस

- 29 अगस्त को गवर्नर राम नाइक करेंगे कुलपतियों के सम्मेलन का इनॉग्रेशन

kanpur@inext.co.in

KANPUR:

देश के कुछ चुनिंदा यूनिवर्सिटी के कुलपति सीएसए के फैकल्टी मेंबर्स को रिसर्च वर्क की बारीकियों की जानकारी देंगे. 29 अगस्त को सीएसए में शुरू होने वाले दो दिवसीय कुलपतियों के सम्मेलन में देश की अलग-अलग एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी के करीब 50 वाइस चांसलर शिरकत करेंगे, जिसमें से 10 वीसी अपनी फील्ड की जानकारी साझा करेंगे. सीएसए प्रशासन इस कांफ्रेंस की तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटा हुआ है.

50 एग्री यूनिवर्सिटी के वीसी आएंगे

सीएसए एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी के मीडिया इंचार्ज प्रो. वेदरत्न तिवारी ने बताया कि दो दिवसीय कुलपति सम्मेलन के लिए देश की सभी एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर को आमंत्रित किया गया है. जिसमें कि करीब 50 एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर ने आने की सहमति दे दी है. देश में करीब 63 एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी हैं. इसके अलावा 3 सेंट्रल एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी और 6 एग्रीकल्चर फील्ड की डीम्ड यूनिवर्सिटी हैं. देश के करीब दस कृषि विश्वविद्यालयों के कुलपति अपनी रिसर्च व देश की एग्रीकल्चर को बेहतर करने की जानकारी देंगे. साथ ही फैकल्टी मेंबर्स को नई टेक्नोलॉजी से अपडेट भी करेंगे.

मौसम बदलाव की चुनौती पर फोकस

सीएसए मीडिया प्रभारी ने बताया कि कांफ्रेंस में बेहतर और ज्यादा प्रोडक्शन पर चर्चा होगी. क्योंकि किसानों के आर्थिक सुधार के लिए ये दोनों ही जरूरी है. खाद्यान्न के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनने के लिए भी किए जा रहे प्रयासों की जानकारी दी जाएगी. उन्होंने बताया कि हमारे सामने सबसे बड़ी चुनौती मौसम में बदलाव है. इससे पार पाने के लिए हमारे कृषि वैज्ञानिकों को ऐसे सीड्स डेवलप करने होंगे जो कि शार्ट टर्म में बेहतर उत्पादन दें. इस चैलेंज पर फोकस करके हमें नये रिसर्च वर्क करने होंगे. कुछ यूनिवर्सिटी में इस पर काम चल रहा है.

29 अगस्त को दो दिवसीय कुलपतियों का सम्मेलन

50 यूनिवर्सिटी के कुलपतियों ने आने की सहमति दी

10 कुलपति अपनी फील्ड की बारीकियां साझा करेंगे