lucknow@inext.co.in
LUCKNOW : वजीरगंज में एक साल पहले आढ़ती से दो लाख की टप्पेबाजी करने वाले एसटीएफ के फर्जी दारोगा को पीडि़त ने संडे को पांडेयगंज में दबोचा और नाका पुलिस के हवाले कर दिया।

चेकिंग के नाम पर ठगा था
इंस्पेक्टर वजीरगंज ने बताया कि राजाजीपुरम निवासी रामनिवास अग्रवाल की पांडेयगंज में आढ़त है। बीते वर्ष 29 जून को वह आढ़त जा रहे थे। तभी पांडेयगंज के पास पुलिसकर्मी बन तीन टप्पेबाजों ने उन्हें चेकिंग के  नाम पर रोका और बैग में रखे दो लाख रुपए पार कर दिए। रामनिवास ने इसकी रिपोर्ट वजीरगंज कोतवाली में की थी।

मिला नकली हीरे का हार
पुलिस को आरोपी के पास से सोने के नकली कंगन और हीरे का नकली हार मिला है। शातिर ने अपना नाम मध्य प्रदेश निवासी बिलाल बताया है। नाका पुलिस ने बताया कि आरोपी पर पहल ही वजीरगंज में ही एफआईआर दर्ज है। वह कभी एसटीएफ तो कभी सीबीआई अधिकारी बनकर ठगी करता है। उसने अपने साथियों के नाम भी बताए हैं।

अर्दब में लेने की कोशिश
संडे सुबह रामनिवास आढ़त पर थे तभी टप्पेबाज उन्हें दिखा तो उन्होंने लोगों की मदद से उसे पकड़ लिया। आरोपी ने खुद को एसटीएफ का दारोगा बता लोगों को अर्दब में लेने की कोशिश की लेकिन लोगों ने उसे पुलिस के हवाले कर दिया।

Crime News inextlive from Crime News Desk