ranchi@inext.co.in
RANCHI:  गोड्डा की पहाडि़या बच्ची, जिसके साथ प्रभा मुनि और उसके परिवार ने दरिंदगी की सारी हदें पार कर दी थी. बुधवार को उसने दम तोड़ दिया. इस पहाडि़या बच्ची की मौत पर सवाल उठ रहे हैं. आखिर उसे क्या हो गया था कि मौत हो गई. प्रभा मुनि के खिलाफ बोलने वाली इकलौती बच्ची का मुंह हमेशा के लिए बंद कर दिया गया.

कोई साजिश तो नहीं
दिल्ली से मानव तस्करों के चंगुल से छुड़ाकर बच्ची को लाया गया था. बच्ची ने प्रभा मुनि के काले कारनामे के बारे में खुलकर बोला था. रिम्स में इलाज के दौरान बच्ची से मिलने डीजीपी की पत्नी सहित इप्सोवा की कई मेंबर्स भी गई थीं. अब सवाल यह उठता है कि आखिर कुछ लोग उसे बचाने आए थे या मानव तस्कर को बचाने आए थे. कहा जा रहा है कि प्रभा मुनि का केस इस मामले में कमजोर था.

दिल्ली से गिरफ्तार हुई थी प्रभा मुनि
झारखंड की कई मासूम लड़कियों को दिल्ली में बेचने की आरोपी महिला तस्कर प्रभा मुनि को दिल्ली पुलिस के सहयोग से गिरफ्तार कर लिया गया था. प्रभा मुनि पर झारखंड की कई लड़कियों को दिल्ली में बेचने का आरोप है. दिल्ली एटीएस की टीम ने उसे दिल्ली के पंजाबी बाग इलाके से गिरफ्तार किया था. वह दिल्ली में अपनी पहचान छुपाकर रह रही थी.