शिकायत पर पुलिस ने मामला लिया हल्के में, अगले दिन हुए धमाके

आगरा. सिटी में दो दिन दहशत के बीते. शुक्रवार को अंडमान एक्सप्रेस को डीरेल करने का प्रयास हुआ तो शनिवार को आगरा कैंट स्टेशन पर दो धमाकों कैंट एरिया को दहला दिया. दरअसल, धमाकों के एक दिन पहले ही दो संदिग्ध युवक रेलवे स्टेशन पर वीडियो बनाते दिखाई दिए. इसकी शिकायत एक प्रत्यक्षदर्शी ने पुलिस से की, लेकिन उसकी शिकायत को हल्के में लिया.

कंट्रोल रूम मिलाया फोन

सूत्रों के अनुसार शुक्रवार को डीरेल वाली घटना के दिन एक युवक ने आगरा फोर्ट रेलवे स्टेशन पर दो संदिग्धों को स्टेशन की रेकी करते हुए देखा. युवक की माने तो दो युवक मोबाइल से वीडियो बना रहे थे. वह कभी पटरी के इस तरफ तो कभी उस तरफ जाकर अलग-अलग स्थानों पर रिकॉर्डिग कर रहे थे. संदेह होने पर युवक ने पुलिस कंट्रोल रूम फोन किया. पुलिस ने मौके पर आकर ठोस जांच नहीं की.

स्टेशन मास्टर को भी दी जानकारी

कार्रवाई न होते देख युवक ने स्टेशन मास्टर के संज्ञान में मामला डाला. इसके बावजूद भी संदिग्ध मौके से निकल गए. उसी रात भांड़ई के पास आईएसआई कमांडर मोहम्मद मिर्जा का धमकी भरा पत्र रेलवे ट्रैक पर पत्थर के नीचे दबा मिला. ट्रैक पर पत्थर रखकर अंडमान एक्सप्रेस को डीरेल करने का प्रयास किया गया था. दूसरे दिन कैंट के पास दो धमाके हुए. एक धमाका केबिन के पीछे तो दूसरा नजदीक ही सराय ख्वाजा अशोक के घर में. इस मामले में आशंका बन रही है कि कहीं इन घटनाओं के पीछे इन संदिग्धों का संबंध तो नहीं है, लेकिन पुलिस ने मामले की जांच करने की जहमत नहीं उठाई.

संडे को भी दिखा युवक वीडियो बनाते हुए

रविवार को एक युवक ने एलआईसी बिल्डिंग सिकंदरा के सामने से किसी युवक को वीडियो बनाते देखा. वह उसे टोक पाता तब तक वीडियो बनाने वाला युवक निकल गया.