अपने पसंदीदा टॉपिक्स चुनें close
शहर चुनें close

उत्‍तर को दक्षिण से मिलाता 'गोकर्ण गांव', यहीं गाय के कान से बाहर आए थे भगवान शिव शंकर

Chandra Mohan Mishra   |  Publish Date:Tue 10-Jan-2017 16:01:04
कहते हैं कि नदी के दो किनारे कभी आपस में मिलते नहीं हैं। इसी तरह दो दिशाएं भी कभी आपस में मिलती नहीं हैं, लेकिन अनोखा है हमारा भारत देश जहां ऐसी चीजें दिखायी देती हैं, जिन पर विश्‍वास करना आसान नहीं होगा। भारत में कर्नाटक राज्‍य के सुदूर छोर पर बसा है एक छोटा सा गांव 'गोकर्ण'। नाम से ही जाहिर है कि गाय का कान। 'गोकर्ण' को लेकर यूं तो कई धार्मिक मान्‍यताएं है लेकिन उनमें से एक प्रचलित पौराणिक मान्‍यता यह है कि सृष्‍टि के निर्माण के दौरान भगवान शंकर ने गाय के कान से यहीं पर जन्‍म लिया था। इसी वजह से इस जगह को नाम मिला गोकर्ण। गोकर्ण में देखने को मिलती हैं कई अनोखी चीजें, आइए देखें।
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK