हालात काफी गंभीर
फ्रांस पेरिस में हो रहे फुटबाल टूर्नामेंट यूरो कप में इंग्लैंड और रूस के बीच मैच के बाद यहां का माहौल अचानक से बदल गया। यहां पर आज मैच के बाद दोनों टीमों के सपोर्टर्स आपस में भिड़ गए। यहां मौजूद दर्शकों की मानें तो मैच 1-1 से ड्रा रहने के बाद रूसी प्रशंसकों आपे से बाहर हो गए। वे इंग्लैंड की दीर्घा में प्रवेश कर गए और इंग्लैंड के फ्लैग को फाड़ दिया। इसके बाद इन दोनों टीमों के प्रशंसको के बीच आपस में लड़ाई हो गई। जब तक यहां पर मौजूद प्रबंधन अधिकारी व सुरक्षा कर्मी इस माहौल को समझ पाते तब तक हालात काफी गंभीर हो गए थे। इंग्लैंड और रूस की टीमों के समर्थकों ने एक दूसरे पर बोतलें और कुर्सियां फेंकनी शुरू कर दी है। जिसके बाद पुलिस कर्मियों ने झगड़ रहे समर्थकों पर टीयर गैस और वॉटर कैनन की मदद से उन पर काबू पाया।

प्‍लेयर को हार्ट अटैक
वहीं इस घटना में करीब 34 से अधिक लोग घायल हुए हैं। घायलों को उपचार हेतु अस्‍पताल भेजा गया है। वहां पर संघर्ष के दौरान एक रशियन प्लेयर इतना घबरा गया कि उसको हार्ट अटैक आ गया। उसे भी फौरन अस्‍पताल भेजा गया। इसके अलावा पुलिस इस पूरे मामले में करीब 6 लोगों को अरेस्‍ट कर पूछतांछ कर रही है। बताते चलें कि यूरो कप शुरू होने से पहले गुरुवार रात मार्शेले में ब्रिटिश फुटबॉल फैन्स और लोकल्स के बीच भी झड़प हुई थी। इसमें में भी करीब 6 लोग घायल हुए थ्‍ो। इसके पहले मार्शेले में 1998 विश्व कप के दौरान भी हिंसा हुई थी। उस समय इंग्लैंड और ट्यूनीशिया के समर्थक आपस में भिड़ गए थे।

Sports News inextlive from Sports News Desk

inextlive from News Desk