यह चार महीने पहले फरवरी में लापता हो गए
मुंबर्इ । जी हां हाल ही में सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा था। इस वीडियो में पुलिसकर्मी की दरियादिली दिखार्इ दे रही हैं। एक पुलिस कर्मी सड़क के किनारे एक बुजुर्ग को खाना खिला रहा था। एेसे में व्हाट्सएप, फेसबुक और ट्विटर पर वायरल वीडियो को सोमवार को मुंबई के शिवाजी पार्क पुलिस स्टेशन के हेड कांस्टेबल अशोक भुजबल ने देखा। मिड डे की एक रिपोर्ट के मुताबिक अशोक भुजबल ने बताया कि उसने उस वीडियो को पुलिस कर्मी के नेक काम को देखने के लिए डाउनलोड किया। एेेसे में जब उसकी नजर खाना खाने वाले बुजुर्ग पर पड़ी तो उन्हें याद आया यह तो शायद उनके पड़ोस के  90 वर्षीय भिकाजी पंसारे हैं। यह चार महीने पहले फरवरी में लापता हो गए थे। इस पर तुरंत उनके घर गए आैर उनके परिवार को यह वीडियो दिखाया।

वायरल वीडियो ने 90 साल के बूढ़े को परिवार से मिलवाया

कांस्टेबल की डिटेल देने की गुजारिश की

एेसे में पुष्टि हो जाने पर उन्होंने इस वीडियो को अपने पुलिस विभाग के दूसरे ग्रुपो में भी भेजा आैर इस कांस्टेबल के बारे में डिटेल देने की गुजारिश की। इसके बाद पता चला कि यह सोलापुर के हेड कांस्टेबल नसरुद्दीन शेख हैं।  अशोक ने नसरुद्दीन शेख का नंबर लेकर उनसे संपर्क किया। इस दौरान नसरुद्दीन शेख ने बताया कि हां उन्होंने शनिवार को पहली बार इस बुजुर्ग आदमी को देखा था। इस दौरान उन्होंने उसके परिवार आैर उनका नाम पूछा था आैर उसे खाना भी खिलाया था लेकिन हां उन्हें इस वीडियो के बारे में नहीं पता था। वहीं इस संबंध में सोलापुर से बात करते हुए, नसरुद्दीन ने कहा कि जब मुझे मुंबई से फोन आया, तो मैं बस रात की शिफ्ट शुरू करने वाला था। मैंने तुरंत बीट मार्शल को बुलाया और उनसे वरिष्ठ नागरिक की जांच करने के लिए कहा। इस दौरान बड़ी उपलब्धि मिली।

वायरल वीडियो ने 90 साल के बूढ़े को परिवार से मिलवाया

भिकाजी का परिवार काफी खुशी मना रहा
वह बुजुर्ग मिल गया आैर फिर उसे मुंबर्इ के लिए रवाना किया गया।हालांकि पुलिस इस पूरे मामले को लेकर थोड़ी हैरान भी है कि यह करीब 400 किलोमीटर दूर सोलापुर कैसे पहुंच गए। ये किसी ट्रेन आदि में जाकर कहीं आैर दूसरी जगह जा सकते थे। वहीं भिकाजी के मिलने पर उनका परिवार काफी खुशी मना रहा है। उनके परिवार ने सोलापुर के इस  हेड कांस्टेबल नसरुद्दीन शेख को सोलापुर में ही सम्मानित भी किया।भिकाजी की बेटी मनाली पेटोल ने कहा, ' मेरे पिता 7 फरवरी को बायकुला से गायब हो गए थे। हमने अपने पिता की रेलवे स्टेशनों, अस्पतालों और मंदिरों में हर जगह खोज की। एेसे में जब वह नहीं मिले तो बायकुला पुलिस स्टेशन में शिकायत भी दर्ज करार्इ।  पैम्फलेट आदि वितरित करने के साथ ही शिर्डी में साईं बाबा मंदिर में भी पिता की वापसी के लिए प्रार्थना करने गए थे।'

पूर्व पीएम अटल की हालत में सुधार, AIIMS ने दी जानकारी

विराट के फिटनेस चैलेंज को पीएम मोदी ने एेसे किया पूरा, देखें जब चलने लगे उल्टा

National News inextlive from India News Desk