बेंगलुरु (रायटर्स)। टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने 100-100 गेंदों का मैच खेलने से मना कर दिया है। भारतीय क्रिकेट टीम के लिए टेस्ट, वनडे और टी-20 में कप्तानी कर रहे विराट अब क्रिकेट का नया फॉर्मेट नहीं चाहते हैं। कोहली का कहना है, 'क्रिकेट का यह नया रूप सुनने और देखने में भले ही अच्छा लगता हो लेकिन सच बोलूं तो मैं इस खेल में नया फॉर्मेट नहीं चाहता। विस्डन क्रिकेट मैग्जीन को दिए इंटरव्यू में विराट आगे कहते हैं, 'मैं इससे ऊबा तो नहीं हूं मगर जब आप ज्यादा क्रिकेट खेलते हैं तो इसकी मांग और बढ़ जाती है। मुझे लगता है कि कमर्शियल फायदे के लिए आप क्रिकेट का स्तर गिरा रहे हैं जोकि मुझे काफी खराब लगता है।'

जानें क्या है 100-100 क्रिकेट
साल 2003 में टी-20 क्रिकेट का जन्‍म हुआ और यह अभी तक का सबसे पसंदीदा क्रिकेट फॉर्मेट बन चुका है। मगर इंग्‍लैंड क्रिकेट बोर्ड इससे भी छोटा क्रिकेट खेलने जा रहा है, जिसे 100-100 नाम दिया गया। इंग्‍लैंड एंड वेल्‍स क्रिकेट बोर्ड ने क्रिकेट का नया अवतार पेश किया है। बोर्ड चाहता है वह अपने घरेलू क्रिकेट टूर्नामेंट में 100-100 गेंदों का मैच खेले। इसके लिए बोर्ड ने आईसीसी के पास इसका प्रस्‍ताव भेजा जिसे पास कर लिया गया है। यानी कि अब अगले कुछ सालों में दर्शकों को नया क्रिकेट देखने को मिलेगा। ईसीबी ने इसका पूरा शेड्यूल भी तैयार कर लिया है। इसके अनुसार 2020 में अगले 38 दिनों तक 100-100 गेंदों का टूर्नामेंट खेला जाएगा। इसमें कुल 36 मैच होंगे और सभी नए क्रिकेट फॉर्मेट में खेले जाएंगे।
जानिए कैसे खेला जाएगा 100 गेंदों का मैच,जिसकी आलोचना कर रहे विराट कोहली
क्‍या होंगे इसके नियम

इस खेल में प्रत्‍येक टीम को 100-100 गेंद खेलने को मिलेंगी। जिसमें कि 15 ओवर छह-छह गेंदों का होगा। जबकि आखिरी यानी 16वां ओवर 10 गेंदों का फेंका जाएगा। ऐसे में क्रिकेट में नया रोमांच आ सकता है। ईसीबी की मानें तो यह नया क्रिकेट फॉर्मेट टी-20 से 40 मिनट छोटा होगा और जल्‍दी खत्‍म हो जाएगा। इससे सिर्फ ब्रॉडकॉस्‍टर ही नहीं दर्शकों को भी काफी सहूलियत हो जाएगी।

टी-20 को जाइए भूल क्रिकेट में आ रहा नया रूल, अब 100-100 गेंदों का होगा मैच

कोहली से ज्यादा हैंडसम और स्टाईलिश हैं एशियन गेम्स में गोल्ड जीतने वाले नीरज चोपड़ा

Cricket News inextlive from Cricket News Desk