लंदन (रॉयटर्स)। टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में केवल एक टीम ने पांच मैचों की सीरीज में 2-0 से पीछे रहने के बाद भी श्रंखला पर कब्जा किया था लेकिन इंग्लैंड के दौरे पर गई भारतीय टीम के पास मौका है कि वह 1936-37 के डॉन ब्रैडमैन की ऑस्ट्रेलियाई टीम के इस रिकॉर्ड की बराबरी करने में सफल हो सकती है। जब नॉटिंघम में भारतीय टीम के कोच रवि शास्त्री से इस रिकॉर्ड के बराबरी करने पर सवाल किया गया तो उन्होंने कड़े शब्दों में इसका जवाब देते हुए कहा, '1936-37? मैं तब पैदा भी नहीं हुआ था, मैन! तुम मुझे 36-37 की क्यों याद दिला रहे हो?' उन्होंने आगे कहा, 'एक समय में एक ही मैच की बात करो, हम वर्तमान में जी रहे हैं, ओके।'

परिस्थितियों को देखते हुए विराट करते हैं प्लानिंग
बता दें कि अब तक हुए टेस्ट सीरीज के तीन मैचों में से भारतीय टीम को दो में हार का सामना करना पड़ा है, जबकि एक में उसे जीत हासिल हुई है। पांच मैचों की श्रंखला में शेष दो मैचों में से चौथा आगामी 30 अगस्त से खेला जायगा। मीडिया से बात करते हुए रवि शास्त्री ने कहा, 'विराट कोहली के काम करने का तरीका अन्य खिलाड़ियों से अलग है। मैंने किसी भी क्रिकेटर को उनकी तरह नहीं देखा है, वे बिलकुल तेंदुलकर की तरह परफॉर्म करते हैं, जब तैयारी की बात आती है, वे परिस्थितियों को देखते हुए कोई योजना बनाने पर विचार करते हैं।

फिर से करेंगे एक नई शुरुआत

शास्त्री ने यह भी कहा, 'मैं आपको वादा करता हूं, विराट अब पिछले मैचों को भूल जाएंगे और फिर से एक नई शुरुआत करेंगे' बता दें कि भारत और इंग्लैंड के बीच नॉटिंघम में हुए तीसरे टेस्ट में एक ओर जहां भारत को 203 रनों से जीत मिली तो वहीं कप्तान कोहली का 'विराट' अवतार भी देखने को मिला। विराट ने इस मैच में कुल 200 रन बनाए। विराट को इस शानदार प्रदर्शन का इनाम भी मिला। न सिर्फ वह मैन ऑफ द मैच रहे बल्कि आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में फिर से नंबर वन बल्लेबाज का खिताब हासिल कर लिया।

तीसरे टेस्ट में हुई थी गाली-गलौच, कोई नहीं भूलेगा भारत बनाम इंग्लैंड के ये 5 विवाद

इस इंग्लिश गेंदबाज को पहले से पता था कि अबकी बार जमकर पीटेंगे विराट

Cricket News inextlive from Cricket News Desk