ढाका। अफगानिस्तान के खिलाफ रस्मी मैच में मिली जीत के बाद कप्तान विराट कोहली के चेहरे पर ज्यादा खुशी तो नहीं थी लेकिन उन्होंने इस जीत को मनोबल बनाए रखने वाला बताया। कोहली ने इस दौरान ये भी खुलासा किया कि मंगलवार को उनकी टीम की नजरें बांग्लादेश और पाकिस्तान के मैच पर टिकी हुई थीं क्योंकि बांग्लादेश की जीत फाइनल के लिए भारत के रास्ते खोल सकती थी, हालांकि ये नहीं हुआ और पूरी टीम इंडिया को निराशा हुई।

कोहली ने श्रीलंका और पाकिस्तान के खिलाफ की गई गलतियों पर निराशा जताई। कोहली ने अफगानिस्तान पर मिली जीत के बाद कहा, 'यह मुकम्मल प्रदर्शन था। जब आप फाइनल की दौड़ से बाहर हो जाते हैं तब टीम का मनोबल बनाए रखना चुनौतीपूर्ण होता है। हम मंगलवार को उम्मीद कर रहे थे कि बांग्लादेश जीत जाएगा, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। शुरुआती मैचों में हम काफी दबाव में थे, लेकिन बुधवार को हम इत्मीनान से खेले।'

क्रिकेट की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

बल्लेबाजी क्रम में बदलाव करके अजिंक्य रहाणे को पारी की शुरुआत के लिए भेजने के फैसले के बारे में कोहली ने कहा, 'रहाणे ने रन बनाए हैं और उन्हें क्रीज पर अधिक समय देना जरूरी था। दिनेश कार्तिक को भी ऊपरी क्रम पर भेजा गया। हमें उनके साथ संयम बरतना होगा।' टूर्नामेंट में टीम के प्रदर्शन के बारे में उन्होंने कहा कि यदि महत्वपूर्ण मैचों में मौके नहीं गंवाए होते तो हालात दीगर होते। उन्होंने कहा, 'हमने शुरुआत अच्छी की, लेकिन पाकिस्तान और श्रीलंका के खिलाफ गलतियां भारी पड़ी। अमित मिश्रा ने पाकिस्तान के खिलाफ अच्छी गेंदबाजी की। मैं टीम के प्रदर्शन से खुश हूं।'

 

Powered By : Danik Jagran