- कानपुर रोड स्थित विष्णुलोक कॉलोनी का बुरा हाल

- सड़क, सीवर और वाटर लाइन से एरिया अब भी महरूम

- सांसद, विधायक से लेकर नगर निगम के अधिकारियों से अब तक मिला सिर्फ आश्वासन

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW: कहने को इलाका बेहद पॉश है..यहां रहने वाले भी बड़े अधिकारी या फिर बड़े बिजनेसमैन..एयरपोर्ट से दूरी महज तीन किलोमीटर पर, कॉलोनी में न तो चलने के लिये सड़क है, पेयजल सप्लाई के लिये वाटर लाइन और न ही सीवेज सिस्टम. यह हाल है कानपुर रोड स्थित विष्णु लोक कॉलोनी का. नेशनल हाइवे से सटी हुई और शहर के भीतर स्थित इस कॉलोनी के बाशिंदों ने सांसद से लेकर विधायक और नगर निगम के ऑफिसर्स से कई बार इसकी गुहार लगाई लेकिन, हर बार इन्हें आश्वासन का झुनझुना थमा दिया गया.

गुहार लगाते थक चुके

कानपुर रोड स्थित निर्माणाधीन मेट्रो यार्ड के करीब विष्णुलोक कॉलोनी स्थित है. 4 किलोमीटर के दायरे में फैली इस कॉलोनी में सैकड़ों मकान स्थित हैं. इसी कॉलोनी के निवासी प्रवीण सिंह ने बताया कि वर्ष 2004 में उन्हें मकान के लिये जमीन की आवश्यक्ता थी. कई प्लॉट देखने के बाद उन्हें विष्णुलोक कॉलोनी की लोकेशन बेहद पसंद आई. बेहद उम्मीदों के साथ उन्होंने मकान बनवा भी लिया लेकिन, मकान बनते ही उन्हें अपने निर्णय पर अफसोस होने लगा. दरअसल, कॉलोनी में न तो सड़क थी और न ही सीवेज सिस्टम. उन्होंने कॉलोनी में रहने वाले अन्य बाशिंदों के साथ मिलकर क्षेत्रीय सांसद, विधायक और नगर निगम के ऑफिसर्स के सामने रोड, सीवेज सिस्टम व वाटर लाइन के लिये गुहार लगाई. पर, हर बार उन लोगों को सिर्फ आश्वासन ही मिला. 14 साल से गुहार लगाने का यह सिलसिला जारी है, लेकिन सफलता न मिलती देख वे सभी अब थककर शांत हो चुके हैं.

खुद के खर्च पर बनवाई नालियां

विष्णुलोक सोसायटी के सचिव मृत्युंजय सिंह ने बताया कि नालियां व सीवेज सिस्टम न होने की वजह से घरों का गंदा पानी रास्ते में भर जाता था. तमाम जगह गुहार लगाने का जब कोई नतीजा नहीं निकला तो उन्होने पड़ोसियों की मदद से अपनी रोड पर चंदा लगाकर नालियों का निर्माण कराया. लेकिन, सड़कों का हाल जस का तस बना हुआ है. उन्होंने बताया कि बारिश होते ही पूरा इलाका तालाब में तब्दील हो जाता है और लोगों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. कुछ माह पूर्व सांसद कौशल किशोर और नगर आयुक्त उदयराज सिंह ने एरिया का दौरा किया था और इलाके में सड़कों के निर्माण का आश्वासन दिया था. पर, इसके बावजूद अब तक कोई काम नहीं हो सका.

जल्द बनेंगी सड़कें: नगर आयुक्त

विष्णुलोक कॉलोनी की बदहाली पर नगर आयुक्त उदयराज सिंह ने सकारात्मक रुख दिखाया है. आई नेक्स्ट से बातचीत में उन्होंने बताया कि विष्णुलोक कॉलोनी की हालत उनके संज्ञान में है, पूरे इलाके में सड़कें व सीवेज सिस्टम के लिये 3.50 करोड़ रुपये का प्रस्ताव बनाकर शासन को भेजा गया है. उम्मीद है कि यह धनराशि जल्द स्वीकृत हो जाएगी. उन्होंने बताया कि अगर यह धनराशि स्वीकृत नहीं भी हुई तो वे नगर निगम की अवस्थापना निधि से इस काम को स्वीकृत कराया जाएगा. नगर आयुक्त ने उम्मीद जताई कि साल के अंत तक यह काम शुरू भी हो जाएगा.

पब्लिक कॉलिंग

सड़क व सीवेज सिस्टम न होने की वजह से लोगों को भारी दिक्कत पेश आती है. बारिश में तो हालात बेकाबू हो जाते हैं.

- प्रवीण सिंह

खुद के खर्च से नालियां तो बनवा लीं लेकिन, सड़क बनवाना हम लोगों के वश की बात नहीं. नगर निगम को इस ओर ध्यान देना चाहिये.

- मृत्युंजय सिंह

सांसद से लेकर पार्षद तक हम लोगों ने सड़क निर्माण के लिये गुहार लगाई है लेकिन, कोई सुनवाई नहीं होती.

- डेविड

अगर राजधानी में सड़क व सीवेज सिस्टम के लिये संघर्ष करना पड़े तो बाकी प्रदेश की हालत के बारे में अंदाजा लगाना मुश्किल है.

- आकाश वर्मा

बदहाल सड़कों की वजह से यहां अक्सर एक्सीडेंट होते हैं और कई लोग चोटिल हो चुके हैं. नेता केवल वोट मांगने आते हैं उसके बाद उन्हें हमारी दिक्कतें नहीं दिखाई देतीं.

- केके गुप्ता

विकास के दावे करने वाली सरकार को राजधानी में व्याप्त विष्णुलोक कॉलोनी की बदहाली पर भी ध्यान देना चाहिये.

- लालजी गुप्ता