प्रोत्साहन

मरीजों को मिला स्पेशल ऑफर का फायदा

राहत लेकर आई मतदान की स्याही

- आईएमए ने मतदाताओं को दिया था स्पेशल ऑफर

-डॉक्टर्स ने ओपीडी फीस में दिया 50 फीसदी डिस्काउंट

Meerut। विधानसभा चुनावों में अपने मत का इस्तेमाल करने वाले लोगों का डॉक्टर्स ने सोमवार को आधी फीस पर इलाज किया. इस आईएमए के आह्वान पर डॉक्टर्स ने पेशेंट की उंगली में वोटिंग की स्याही देखकर उसे फीस में 50 प्रतिशत की छूट दी.

क्या है मामला

दरअसल, चुनाव के दौरान अधिक से अधिक मताधिकार इस्तेमाल करने के लिए लोगों में जागरुकता लाने के लिए आईएएम ने वोट करने वाले लोगों को आधी फीस पर इलाज करने का ऑफर दिया था. इस दौरान आईएमए के 2000 डॉक्टर्स में से 1100 डॉक्टर्स ने यह सुविधा देने की बात कही थी. इसके लिए आईएमए अध्यक्ष डॉ. वीरोत्तम तोमर और सचिव रेनु गुप्ता समेत आईएमए के पूर्व अध्यक्ष डॉ. तनुराज सिरोही ने मतदान करने वाले मरीजों के लिए सोमवार को 50 प्रतिशत फीस में छूट के साथ इलाज करने की बात कही थी.

स्याही देखकर ली आधी फीस

आईएमए के आह्वान पर सोमवार को डॉक्टर्स ने मरीजों को फीस में 50 प्रतिशत की छूट दी. आईएमए के पूर्व अध्यक्ष और सीनियर डॉ. तनुराज सिरोही ने बताया कि मरीजों की उंगली में लगी स्याही देखकर उनसे आधी फीस ली गई है. उन्होंने बताया कि सोमवार को कुल मरीजों में 15 से 20 मरीजों को फीस में आधी छूट का लाभ दिया गया. ऐसे मरीजों से सबसे अधिक संख्या महिलाओं की रही.

डॉक्टर ने स्याही देखकर आधी फीस वसूली है. वोट करने का पहली बार कोई फायदा दिखाई दिया है.

-प्रशांत भटनागर, गंगानगर

डॉक्टर्स की ओर से की गई पहल स्वागत योग्य है. उंगली में लगी स्याही दिखाकर फीस में छूट मिलने से वोटिंग का लाभ मिला है.

-रवि श्रीवास्तव, सुभाषनगर

डॉक्टर्स की तरह सरकारी डिपार्टमेंट को भी इस तरह की छूट देनी चाहिए. वोटिंग के माध्यम से आधी फीस पर इलाज कराना संभव हुआ है.

-स्वेता कटियाल, रोहटा रोड

आईएमए के आह्वान पर डॉक्टर्स ने वोट करने वाले मरीजों को फीस में 50 प्रतिशत की छूट दी है. लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए आईएमए ने स्वेच्छा से यह कदम उठाया है. ऐसे आयोजन होते रहने आवश्यक है.

-डॉ. वीरोत्तम तोमर, अध्यक्ष आईएमए शाखा मेरठ