kanpur@inext.co.in
KANPUR: वोटिंग वाले दिन कोई भी पुलिस कर्मी अपनी मर्जी से बूथ के अंदर नहीं जाएगा। मतदान कर्मी की परमीशन के बाद ही वह अंदर जा सकेगा। कोई भी व्यक्ति वोटिंग करते समय फोटो नहीं खींच सकेगा। इस पर सख्ती से बैन लगाया गया है। यह निर्देश कानपुर के आब्जर्वर संतोष कुमार ने पुलिस लाइन में पुलिस कर्मियों को दिए। कहा कि पोलिंग सेंटर्स में पुरुष और महिलाओं की अलग-अलग लाइन बनेगी। दिव्यांग और सीनियर सिटीजन को लाइन में नहीं खड़ा होना पड़े, इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए। पोलिंग सेंटर में मोबाइल, वीडियो और स्टिल कैमरा ले जाना पूरी तरह से बैन होगा।

माइक्रो ऑब्जर्वर को इंफॉर्म करें
एक सेंटर एक पोलिंग एजेंट पोलिंग सेंटर में एक ही पोलिंग एजेंट रहेगा। पहला बाहर निकला है, तभी दूसरे को अंदर जाने दिया जाए। दो पोलिंग एजेंट सेंटर पर मिले तो उन पर कार्रवाई की जाएगी। कोई समस्या होने पर जोनल मजिस्ट्रेट, सेक्टर मजिस्ट्रेट और माइक्रो ऑब्जर्वर को इंफॉर्म करें। उन्होंने निर्देशित किया कि सभी पुलिसकर्मियों को सुबह 6 बजे नौबस्ता गल्ला मंडी पहुंचना है। वह अपना ड्यूटी कार्ड लेकर आएं। आलाधिकारियों के निरीक्षण में कोई अब्सेंट मिला तो सख्त कार्रवाई की जाएगी।

पर्दे में हो पर्दा करने वाली महिलाओं की चेकिंग
जिला निर्वाचन अधिकारी विजय विश्वास पंत ने कहा कि सभी बूथ में महिला मतदान कार्मिक तैनात हैं। पर्दा करने वाली महिलाओं की चेकिंग सिर्फ पर्दे में ही की जाए। एसएसपी ने कहा कि किसी भी सूचना को नजर अंदाज नहीं करना है। एडीएम सिटी विवेक कुमार श्रीवास्तव, उप जिला निर्वाचन अधिकारी केहरी सिंह सहित पुलिस के अधिकारी भी मौजूद रहे।
लोकसभा चुनाव 2019 : मतदान के कुछ घंटे पहले 3 मिनट में कानपुर-बुंदेलखंड को मथ गए पीएम
वोटर पर्ची न पहुंची तो कार्रवाई
सैटरडे को जिला निर्वाचन अधिकारी विजय विश्वास पंत ने वोटर हेल्पलाइन नंबर 1950 का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान आने वाले कंप्लेन को उन्होंने गहनता से चेक किया और उसके निस्तारण को भी देखा। ऑपरेटर को निर्देश दिए कि कोई भी शिकायत मिलने पर उसे संबंधित एआरओ को जरूर बताएं और इसका स्टेट्स भी लें। वोटर पर्ची घर न पहुंचने की शिकायत पर तुरंत कार्यवाही करें ।