अब दिसंबर में मिलेगा विटामिन ए और आयरन सिरप

स्वास्थ्य विभाग ने जुलाई में नहीं दी थीं बच्चों को डोज

Meerut. बच्चों को कुपोषण से बचाने के लिए जारी जंग में स्वास्थ्य विभाग खरा नहीं उतर पा रहा है. विभाग की ओर से इस साल जून में बच्चों को विटामिन ए और आयरन सिरप की डोज नहीं दी जा सकी थी. आंखों को तंदरूस्त रखने और एनीमिया से बचाव के लिए दी जाने वाली इस डोज के लिए बच्चों को अभी तीन महीने और इंतजार करना होगा.

जून में नहीं पहुंची थी दवाई

गौरतलब है कि बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार के तहत एकीकृत बाल विकास स्कीम (आइसीडीएस) के तहत 0 से 5 साल तक के बच्चों के लिए बाल विकास पोषण योजना के तहत विटामिन-ए एवं आयरन की गोलियां व सिरप दिया जाता है. इस साल जून में इसके लिए व्यापक अभियान चलना था, लेकिन स्वास्थ्य विभाग के पास दवाइयां ही नहीं पहुंच सकी. इसकी वजह से अभियान परवान नहीं चढ़ पाया और बच्चों को दवाइयों से वंचित रहना पड़ा.

4 लाख बच्चे प्रभावित

इस साल जून में दवाइयां न मिलने की वजह से 4 लाख से अधिक बच्चों को यह डोज नहीं दी जा सकी थी, जबकि बच्चों के पूर्ण विकास के लिए साल में दो बार जून में व दिसंबर में इसके लिए बकायदा अभियान चलाया जाता है. इसके तहत सामान्य महिला को गर्भ के 70 दिन के बाद आयरन और विटामिन की 180 एवं एनेमिक को 360 गोली दी जाती हैं. वहीं 5 से 59 माह के बच्चे को 1 मिलीग्राम आयरन व फोलिक एसिड सीरप सप्ताह में दो बार, 5 से 9 वर्ष के बच्चों को आयरन एवं फोलिक एसिड की सप्ताह में एक गोली दी जाती है. विटामिन-ए की खुराक 16 से 24 माह के बच्चे को एक मिलीग्राम की खुराक और 5 साल तक लगातार 6-6 माह पर एक बार खुराक दी जाती है.

जून में पूरे प्रदेश में ही दवाइयों का स्टॉक नहीं आ पाया था. हालांकि हम पोषण माह के तहत बच्चों को विटामिन ए और आयरन की गोली प्रोवाइड कर रहे हैं.

डॉ. विश्वास चौधरी, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी, मेरठ