- फ्लिपकार्ट के जरिये खुदरा व्यापार कब्जा करने की तैयारी में वालमार्ट

- करार हुआ तो बेरोजगार हो जाएंगे व्यापारी, व्यापारियों ने किया प्रदर्शन

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: घाटे में चल रही फ्लिपकार्ट से करार कर भारत के रिटेल मार्केट में कदम रखने की तैयारी कर रहे वालमार्ट के विरोध में सोमवार को कैट से जुड़े व्यापारियों ने सुभाष चौराहे पर प्रदर्शन किया. उन्होंने केंद्र सरकार से करार को रोकने की मांग की. इस दौरान प्रधानमंत्री को संबोधित ज्ञापन अपर जिलाधिकारी को दिया गया.

पूरे देश में पांव पसारने की तैयारी

नेतृत्व कर रहे कंफेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र गोयल ने कहा कि वालमार्ट फ्लिपकार्ट के जरिये पूरे देश में पांव पसारने का प्रयास कर रहा है. वह घाटे में चल रहे फ्लिपकार्ट को खरीद कर देश के खुदरा व्यापार पर कब्जा करने का प्रयास कर रहा है. विभु अग्रवाल ने कहा कि वालमार्ट पेडीटरी प्राइजिंग, डीप डिस्काउंट और लॉस फंडिंग के द्वारा बाजार से कम्पटीशन खत्म कर देता है. इस दौरान इलाहाबाद केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष अनिल दुबे, इलाहाबाद इलेक्ट्रानिक डिस्ट्रीब्यूटर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष शशांक जैन, कैट इलाहाबाद के अध्यक्ष मनोज अग्रवाल आदि ने भी संबोधित किया. प्रदर्शन करने वालों में मनोज रस्तोगी, अनिल दुबे, परमजीत सिंह, वीरेंद्र श्रीवास्तव, अजय गुप्ता, राजेश अग्रवाल, डीके केसरवानी, अनूप जायसवाल, विजय पटेल, अनुज अग्रवाल, तरंग अग्रवाल, नवीन अग्रवाल, अनिल गोयल, संदीप केसरवानी, विनय साहू, आशीष गोयल, रतन अग्रवाल, अजय अवस्थी, रितेश शर्मा आदि शामिल रहे.

व्यापारियों ने जो खतरे गिनाए

- वॉलमार्ट और फ्लिपकार्ट के करार से सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम इकाईयां प्रभावित होंगी

- देश में करीब 8-10 करोड़ लोग हो जाएंगे बेरोजगार