-क्राइम ब्रांच की टीम ने बनियारपुर के पास हल्की मुठभेड़ में दबोचा, आधा दर्जन से अधिक असलहे व जिंदा कारतूस बरामद

-चार अपराधी भागने में रहे कामयाब, जमीन विवाद में भूमि स्वामी की हत्या की थी योजना


हत्या की योजना बना रहे बदमाश, लगे हाथ

जमीन मालिक की हत्या की नियत से पहुंचे आधा दर्जन अपराधियों पर शुक्रवार की सुबह क्राइम ब्रांच टूट पड़ी. दो इनामी शार्प शूटरों को बड़ा लालपुर, बनियारपुर के पास हल्की मुठभेड़ में धर दबोचा. मगर, चार शातिर अपराधी फरार होने में कामयाब रहे. हत्थे चढ़े शार्प शूटरों के पास से पुलिस ने आधा दर्जन से अधिक असलहे और जिंदा कारतूस बरामद किये हैं. फरार अपराधियों में चर्चित अधिवक्ता अभिषेक सिंह प्रिंस, सादिक, इमरान और जावेद खान हैं.


कराया था सट्टा

एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह ने मीडिया को बताया कि क्राइम ब्रांच को इंफॉरमेशन मिली थी कि बनियापुर रिंग रोड ब्रिज के नीचे कुछ बदमाश किसी वारदात को अंजाम देने की योजना बना रहे हैं. बताए स्थल पर क्राइम ब्रांच की टीम पहुंची तो फोर्स देख बदमाश फायरिंग करने लगे. मगर, क्राइम ब्रांच ने दो अपराधियों को धर दबोचा. अन्य बदमाश भाग निकले. पकड़े गए बदमाश कल्लू शर्मा निवासी अकथा थाना सारनाथ और वीरू तिवारी निवासी अकथा थाना सारनाथ ने पुछताछ में पुलिस को बताया कि गिरोह का सरगना अधिवक्ता अभिषेक उर्फ प्रिंस ने जमीन का सट्टा कराया था. जिसको लेकर बनियापुर रजनहिया के बिहारी यादव उर्फ भोला यादव से विवाद चल रहा है. भोला को रास्ते से हटाने के लिए सादिक, अभिषेक, इमरान और जावेद के साथ पहुंचे थे.

मुंगेर से पश्चिमी यूपी तक नेटवर्क

पकड़े गए बदमाशों ने कई चौंकाने वाले खुलासे किए हैं. आरोपियों ने बताया कि बिहार, मुंगेर से असलहा लाकर बनारस सहित पश्चिमी यूपी के विभिन्न जिलों में बेचते थे. गिरोह का सरगना अभिषेक सिंह प्रिंस है. पैसा लेकर हत्या लूट जैसे संगीन अपराध को अंजाम देते थे.

फरार अपराधियों की तलाश तेज

मुठभेड़ में बच निकले अपराधियों की धरपकड़ के लिए कैंट सहित क्राइम ब्रांच की टीम दबिश देना शुरू कर दी है. फरार अपराधियों में सादिक निवासी पक्का बाजार थाना कैंट, अभिषेक सिंह उर्फ प्रिंस निवासी मकबूल आलम रोड थाना कैंट, इमरान निवासी छत्तातले थाना चौक और जावेद खान नई बस्ती हुकुलगंज थाना कैंट का निवासी है.

बरामद असलहे

पकड़े गए शूटरों के पास से 3 पिस्टल .32 बोर, 3 कारतूस, 2 खोखा कारतूस, 1 रिवाल्वर .32 बोर, 2 जिंदा कारतूस, 2 तमंचे .315 बोर, 2 जिंदा कारतूस, 1 तमंचा 22 बोर, 1 जिंदा कारतूस, 3 मोबाइल, एक बाइक और 4 हजार रुपये कैश. गिरफ्तार करने वाली टीम में क्राइम ब्रांच प्रभारी विक्रम सिंह, एसआई राकेश सिंह आदि रहे.