- नगर आयुक्त तैयार करा रहे हैं सफाई कर्मियों की वार्डवार लिस्ट

द्यह्वष्द्मठ्ठश्र2@द्बठ्ठद्ग3ह्ल.ष्श्र.द्बठ्ठ

रुष्टयहृह्रङ्ख : लंबे समय से वार्डो में व्याप्त सफाई कर्मियों का संकट खत्म होने वाला है. इस संकट के दूर होते ही वार्डो में सफाई व्यवस्था दुरुस्त हो जाएगी. पार्षदों की मांग पर नगर आयुक्त ने वार्डवार सफाई कर्मियों की लिस्ट बनवाने का काम शुरू कर दिया है. इस लिस्ट के बनते ही वार्ड की जरूरतों के हिसाब से सफाई कर्मियों की तैनाती कर दी जाएगी.

परिसीमन से उलझी गणित

पहले तो सभी वार्डो में जरूरत के हिसाब से ही सफाई कर्मी थे लेकिन निकाय चुनाव से पहले परिसीमन चेंज हो गया. जिससे अधिकांश वार्डो का क्षेत्र बढ़ गया. इसका असर सफाई कर्मियों की संख्या पर भी नजर आया. वार्ड का एरिया बड़ा होने और सफाई कर्मियों की संख्या कम होने से सफाई व्यवस्था बुरी तरह प्रभावित हुई. ऐसे इलाके, जो परिसीमन में दूसरे वार्डो में चले गए, वहां तो स्थिति बेहद खराब हो गई. नियमित तो दूर, सप्ताह में शायद एक बार ही सफाई हो पा रही थी.

बाक्स

मांग पर ध्यान नहीं

पार्षदों की ओर इस समस्या को निगम प्रशासन के सामने प्रमुखता से उठाया गया लेकिन नतीजा सिफर रहा. पार्षदों ने नए नगर आयुक्त के सामने यह समस्या रखी. वहीं शनिवार को आयोजित सदन में भी इस मामले को उठाया गया. मामले की गंभीरता को देखते हुए नगर आयुक्त ने इस समस्या को दूर करने के लिए प्रयास शुरू कर दिए हैं. उनकी ओर से वार्डवार सफाई कर्मियों की लिस्ट तैयार कराई जा रही है. जरूरत के हिसाब से सफाई कर्मी मिलते ही पार्षदों का दर्द दूर होगा साथ ही जनता को भी गंदगी की समस्या से छुटकारा मिलेगा.

वर्जन

पहले तो यह देखा जा रहा है कि किस वार्ड में कितने सफाई कर्मियों की जरूरत है. लिस्ट बनने के बाद जरूरत के हिसाब से सफाई कर्मी लगाए जाएंगे. जिससे सफाई व्यवस्था बेहतर हो सके.

डॉ. इंद्रमणि त्रिपाठी, नगर आयुक्त