- भवनिया पोखरी में बनेगा वेस्ट ट्रांसफर स्टेशन, हुआ टेंडर

- कॉम्पैक्टर्स व ट्रक से कूड़ा दूसरी गाडि़यों में लोड कर जाएगा करसड़ा

>varanasi@inext.co.in

VARANASI

शहर के कूड़ा डम्पिंग स्थलों की वजह से फैल रही गंदगी को कम करने के लिए भवनिया पोखरी में कूड़ा ट्रांसफर स्टेशन बनेगा. यहां नगर निगम के काम्पैक्टर्स और ट्रक सीधे वहां खड़े दूसरे वाहनों में कूड़ा लोड कर देंगे. इससे कूड़ा जमीन पर नहीं गिरेगा. साथ ही डम्पिंग स्थलों की जरूरत भी कम हो जाएगी. वेस्ट ट्रांसफर स्टेशन बनाने का टेंडर हो चुका है. नगर निगम के अफसरों का कहना है कि जल्द ही स्टेशन का निर्माण शुरू हाे जाएगा.

डम्पिंग स्थलों से होती है परेशानी

शहर में जगह-जगह बने वेस्ट डम्पिंग स्थलों से आसपास के लोगों को काफी परेशानी होती है. दरअसल, सुबह जब नगर निगम के बड़े वाहन कूड़ा गिराते हैं तो काफी मात्रा में कूड़ा बाहर ही पड़ा रह जाता है. जब तक छोटे वाहन आकर उसका उठान करते हैं, तब तक कूड़े से उठने वाली दुर्गन्ध से लोगों का रहना मुहाल हो जाता है. साथ ही संक्रामक बीमारियों के फैलने की आशंका भी प्रबल रहती है.

तीन जगह स्टेशन बनाने का प्लान

शहर में फ‌र्स्ट फेज में तीन जगहों पर वेस्ट ट्रांसफर स्टेशन बनाने का प्लान है. भवनिया पोखरी में ट्रांसफर स्टेशन बनाने के लिए टेंडर की प्रक्रिया पूरी की जा चुकी है. विभागीय अफसरों का कहना है कि जिस एजेंसी को निर्माण की जिम्मेदारी दी गई है. वही एजेंसी ट्रांसफर स्टेशन का संचालन और पांच साल तक मेंटीनेंस भी कराएगी. टेंडर में इसका करार किया गया है. ट्रांसफर स्टेशन का संचालन और मेंटीनेंस एजेंसी के जिम्मे होने से दिक्कत कम होगी.

करसड़ा जाएगा कूड़ा

सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट योजना के तहत भवनिया पोखरी में बनने वाले वेस्ट ट्रांसफर स्टेशन से वाहन कूड़ा लोड कर करसड़ा स्थित कूड़ा निस्तारण केन्द्र जाएंगे. जहां कूड़ा गिरेगा. इसके लिए नगर निगम बड़े वाहन भी खरीदेगा, जिससे कूड़ा ढोया जाएगा. इसकी तैयारियां भी शुरू हो गई हैं.

फिर जलने लगा कूड़ा

रमना स्थित कूड़ा डम्पिंग ग्राउंड में एक बार फिर कूड़ा जमा होने लगा. यही नहीं इसमें आग लगना भी शुरू हो गया है. नगर निगम की गाडि़यां हर रोज कूड़ा लादकर रमना पहुंच रही हैं. सैकड़ों टन कूड़ा दिन भर में गिरा दिया जाता है. निस्तारण का कोई इंतजाम नहीं होने की वजह से कूड़े में आग लगा दिया जाता है. इससे कूड़े की मात्रा तो कम हो जाती है लेकिन जहरीला धूआं आसपास की बस्तियों को प्रदूषित कर देता है. इसकी वजह से लोगों को सांस लेने में दिक्कत होती है. आंखों में जलन भी होता है. रमना में कूड़ा गिराने के लेकर कई बार बवाल हो चुका है लेकिन पीएम तक मामला पहुंचा था. इसके बाद यहां कूड़ा गिरना बंद हो गया था लेकिन एक बार फिर गिरना शुरू हो गया है.

एक नजर

- 600 एमटी कूड़ा डेली निकलता है शहर में

- 100 एमटी कूड़े से होता है कम्पोस्ट उत्पादन

- 37 कूड़ा डम्पिंग स्थल बनाए गए हैं शहर में

- 160 छोटे-बड़े वाहन हैं नगर निगम के बेड़े में

भवनिया पोखरी में कूड़ा ट्रांसफर स्टेशन बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है. टेंडर का टेक्निकल बिड खोला जा चुका है. वर्क आर्डर जारी होते ही एजेंसी निर्माण कार्य शुरू कराएगी.

डॉ. एके दूबे, नगर स्वास्थ्य अधिकारी