- फ्लाईओवर में लगाए डाउन पाइप, नीचे दुकानों पर टपक रहा गंदा पानी

- पानी टपकने से जगह-जगह टूट रही सर्विस लेन की सड़क

BAREILLY:

श्यामगंज फ्लाईओवर की फिनिशिंग में सेतु निगम के अधिकारियों की लापरवाही शहरवासियों पर भारी पड़ने लगी है. बारिश में पूरा फ्लाईओवर झरना बना पड़ा है. ऊपर से गंदा पानी नीचे गिरने से राहगीर से लेकर दुकानदार तक परेशान हैं. तो लाखों रुपए खर्च कर बनाई गई सर्विस लेन झरने की भेंट चढ़ रही है. फ्लाईओवर में डाउन पाइप लाइन न लगने से बारिश का गंदा पानी नीचे सड़क पर गिर रहा है, जिससे हर दस कदम पर गड्ढे बन गए हैं. दैनिक जागरण आईनेक्स्ट ने श्यामगंज से बारादरी तक सर्विस लेन की पड़ताल की तो दोनों तरफ 100 से अधिक गड्ढे पानी गिरने की वजह से बने मिले.

शिकायत पर नहीं चेते अफसर

मानसून की पहली बारिश में ही श्यामगंज फ्लाईओवर की यह खामी जगजाहिर हो गई थी. इसके अलावा एक दिन सेतु निगम के अफसर ही फ्लाईओवर का मुआयना करने पहुंचे थे, तो उन्हें पुल जलभराव दिखाई दिया, जिसके बाद उन्होंने डाउन पाइप के लिए बनाए गए होल को खुद साफ किया था. दुकानदारों की शिकायत के बाद माना जा रहा था कि डाउन पाइल लाइन लगाने का काम पूरा कर दिया जाएगा, लेकिन अफसरों ने समस्या को नजरअंदाज कर दिया.

पीडब्ल्यूडी के अफसर बोले उनकी जिम्मेदारी नहीं

श्यामगंज फ्लाईओवर की इस विकट समस्या को लेकर पीडब्ल्यूडी के चीफ इंजीनियर राकेश राजवंशी का कहना है कि सेतु निगम ने फिनिशिंग पूरा किए बगैर ही फ्लाईओवर पीडब्ल्यूडी को सौंप दिया था. अब इसका मतलब यह नहीं है कि उनकी छोड़ी गई खामियों को पीडब्ल्यूडी दूर करेगा. डाउन पाइप लगाकर उन्हें सड़क तक लाने की जिम्मेदारी सेतु निगम की है.

40.30 करोड़ रूपए में तैयार हुआ था पुल

10 जून 2013 में सीएम की घोषणा के बाद 25 अक्टूबर, 2016 को श्यामगंज फ्लाईओवर का भूमि पूजन हुआ था. जिसके बाद 33 करोड़ का बजट फ्लाईओवरबनाने के लिए मंजूर हुआ था. लेकिन पूरा पुल 40.30 करोड़ रुपए में बनकर तैयार हुआ. लेकिन फिर भी पुल का ड्रेनेज सिस्टम पूरा नही हो सका.

दुकानों का सामान होने लगा है खराब

पुल के नीचे मौजूद दुकानदारों ने बताया कि जब भी बारिश होती है. तब पुल से नीचे इतनी तेज पानी गिरता है कि उसके छींटे पूरी दुकान में आते है. फिर सड़क में गड्ढे हो जाते हैं, जिसमें पानी भरने लगता है. पानी भरने के बाद वहां कीचड़ पैदा हो जाती है. बाद में उन्होंने बताया कि पानी भरने की वजह से कस्टमर ने आना छोड़ दिया है.

---------------------------------------

श्यामगंज के गड्ढे में संज्ञान में है. काफी गहरे गड्ढे हो गए है. कल ही सड़क के सभी गड्ढों को भरवाता हूं. और पुल में पाइप लगाने के लिए लेटर लिखता हूं.

राजेश श्रीवास्तव.

नगर आयुक्त

दुकान का सामान शिफ्ट करने में दिक्कत होती है. पानी दुकान के अंदर तक आ जाता है. पूरी दुकानदारी ठंडी पड़ी है.

नवनीत अग्रवाल, दुकानदार

नगर निगम में कई बार शिकायत भी की, लेकिन आज तक कोई यहां देखने ही नहीं आया. गड्ढे इतने गहरे हो चुके है यहां कभी भी कोई हादसा भी हो सकता है.

राजकुमार अग्रवाल

दुकानदार