आगरा. तेज बारिश और यमुना में छोड़ गए पानी से जलस्तर में अचानक बढ़ोत्तरी आ गई है. देश की राजधानी दिल्ली में यमुना खतरे के निशान पर बह रही है. वहां और मथुरा से लगातार यमुना में पानी छोड़ा जा रहा है. इसके चलते ही आगरा में यमुना का जलस्तर खतरे के निशान के पास पहुंचा है. महापौर नवीन जैन, पार्षदों के साथ बल्केश्वर स्थित यमुना घाट का जायजा लेने सोमवार को पहुंचे. क्षेत्रीय लोगों ने महापौर को बताया कि यमुना का जलस्तर पहले की अपेक्षा काफी बढ़ गया है. इससे शहर में बाढ़ की आशंका होने लगी है.

सुरक्षित स्थान पर पहुंचें

मेयर जैन ने नदी किनारे निवासरत लोगों से अपील की है कि वे यमुना किनारे को छोड़कर कुछ दिनों के लिए सुरक्षित स्थान में शरण लें. क्योंकि मथुरा से लगातार जलस्तर छोड़े जाने की बात कही जा रही है. मेयर ने बताया कि अगले दो-तीन दिनों में मथुरा और दिल्ली से यमुना और पानी जल्द छोड़ा जाएगा. महापौर का कहना है कि जिला प्रशासन से चेतावनी के बाद नगर निगम किसी भी आपदा से निपटने को तैयार हो चुका है. मेयर नवीन जैन ने जल संस्थान के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि यमुना नदी में बाढ़ के हालात बनते हैं तो यमुना किनारे कॉलोनी में बसे जनता तक हर हाल में पहले ही सूचना पहुंच जानी चाहिए. इस मौके पर पार्षदों में अमित ग्वाला, विमल गुप्ता, हरिओम अग्रवाल, संजय राय, प्रकाश केशवानी, पूर्व पार्षद संजय अग्रवाल, अंकुश मंगल, केशव अग्रवाल समेत अन्य लोग मौजूद रहे.