-38 साल पहले बदायूं रोड पर कॉलोनी बनाकर भूल गया बीडीए

- कॉलोनी की टूटी सड़कों पर भरा रहता है गंदा पानी

BAREILLY:

नगर निगम के साथ ही बीडीए भी लोगों को बुनियादी सुविधाएं देने में जमकर लापरवाही बरत रहा है. लगभग 38 साल पहले बदायूं रोड पर कॉलोनी बनाकर बीडीए के अफसर भूल गए. इसके चलते कॉलोनी में लोग नारकीय हालत में जीने को मजबूर हैं. कॉलोनी की एक भी सड़क सही सलामत नहीं है और नालियां भी टूट चुकी हैं. इसके चलते गंदा पानी सड़कों पर ही भरा रहता है. गंदगी के चलते लोगों का घरों से निकलना तक मुश्किल है. सफाई कर्मचारी भी नियमित नहीं आते हैं, जिससे कूड़ा भी गलियों में ही पड़ा सड़ता रहता है.

घर में भी रहना हुआ मुश्किल

स्थानीय लोगों का कहना है कि कॉलोनी की सड़कों पर गंदगी और जलभराव के कारण बाहर निकलना ही नहीं दुर्गध के कारण घर के अंदर रहना भी मुश्किल हो गया है. हर समय कॉॅलोनी में पानी भरा रहता है, जिससे बीमारियां फैलने का डर भी बना रहता है.

नहीं आते हैं मेहमान

कॉलोनी के लोगों ने बताया कि हालात ऐसे हो गए हैं कि अब मेहमान भी आना नहीं चाहते हैं. बरसात के मौसम में तो हालात इतने खराब हो जाते हैं कि गंदा पानी घरों के अंदर भी भर जाता है.

खुद सही कराई नालियां

स्थानीय लोगों ने सड़क और नालियों की मरम्मत कराने की गुहार कई बार बीडीए के अफसरों से लगाई, लेकिन किसी ने नहीं सुनी. हारकर कॉलोनी के लोगों ने अपने घरों के सामने की नालियों की मरम्मत भी अपने खर्च से ही करानी शुरू कर दी है.

वर्जन

कॉलोनी की गलियां कभी साफ ही नहीं होती है. हमेशा इसी तरह कीचड़ से भरी रहती हैं. कोई सफाई कर्मचारी भी सफाई करने नहीं आ रहा है.

अंकुर श्रीवास्तव

आज तक यहां सफाई होते नहीं देखी. बरसात के मौसम में तो यहां पर नरक ही बन जाता है. निकलने का भी रास्ता नहीं बचता है.

वीरेंद्र पाल

कॉलोनी की हालत विभाग को मालूम है. यह बात सही है वहां अभी पानी के निकास की दिक्कत आ रही है. इसके लिए स्मार्ट सिटी के तहत नाला बनाया जाएगा, जिससे दिक्कत दूर हो जाएगी.

आरके जायसवाल, अधीक्षण अभियंता बीडीए