- वार्ड के लोगों ने कई जगहों पर किया रोड जाम

- महिलाएं भी घरों से निकल कर आ गई रोड पर

BAREILLY

लगातार हो रही बारिश के कारण जलभराव और गंदगी से शहर के तमाम इलाकों के लोग परेशान हैं. राजेंद्र नगर में इसके विरोध में भूख हड़ताल जारी है. इधर, सैटरडे को वार्ड नंबर 60 के बांस मंडी, गली मोचियान सहित कई मोहल्लों के लोग भी सड़क पर उतर आए. लोगों ने कई जगहों पर रोड जाम कर दिया और नगर निगम मुर्दाबाद के नारे लगाए. विरोध करने वालों में बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिल रहीं. उनका कहना था कि वार्ड में इतने दिनों से पानी भरा हुआ है, लेकिन नगर निगम के किसी अफसर ने आज तक इस वार्ड में झांक कर नहीं देखा. विरोध बढ़ता देख नगर निगम के अफसरों ने टीम भेजकर नालों को साफ कराया.

कीचड़ से पटी गलियां

वार्ड के लोगों ने बताया कि बारिश के बाद पहले तो गलियों में जलभराव हुआ. इसके बाद नालों का पानी घरों में भरने लगा. इलाके की सड़कें कीचड़ और गंदगी से पटी पड़ी हैं, जिससे बदबू के कारण सांस लेना मुश्किल हो गया है और बीमारियां फैल रही हैं.

होने लगा इन्फेक्शन

उमर मस्जिद और गली मोचियान की महिलाओं ने बताया घरों में नाले का पानी भरा हुआ है. बच्चों को भी उससे बीमारियां फैल चुकी है. इसके साथ ही लोगों को स्किन डिजीज भी हो रही हैं. हजारों रुपए की डॉक्टर से दवा ले चुके हैं.

हंगामा बढ़ा तो पहुंची टीम

जब हंगामा ज्यादा बढ़ गया तो नगर निगम की टीम को सूचना मिली जिसके बाद नगर निगम से तत्काल मशीन लेकर टीम को भेजा गया. जिसके बाद वार्ड नंबर 60 के नालों में मशीन लगाकर पानी को शक किया गया. और नालों को तत्काल साफ कराया गया.

यहां लगाया जाम

- साहू गोपी नाथ रोड

- लाल मस्जिद रोड

- उमर मस्जिद रोड

- बांस मंडी

- गली मोचियान

पूरी गली में कई दिनों से पानी भरा हुआ था. बाद में उसी पानी में कीचड़ पैदा हो गई. बदबू के कारण लोगों को बुरा हाल है.

यूसुफ, बांस मंडी

घरों में नालों का पानी भरा हुआ है. पैरों में सड़न हो गई है. इलाज में पैसे खर्च कर-कर के परेशान हैं. नगर निगम हमारी परेशानी नहीं देख रहा है.

आसमा, गली मोचियान

जब तक नालों का पानी सीवर में जाता रहेगा, और नालों के ऊपर से अतिक्रमण नहीं हटेगा तब तक इस समस्या का कोई समाधान नही हो सकता.

रूप किशोर, पार्षद

----------------------

भूख हड़ताल से बिगड़ी हालत, अफसर बेखबर

राजेंद्र नगर इलाके के जलभराव की समस्या को लेकर भूख हड़ताल सैटरडे को भी जारी रही. पिछले तीन दिनों से भूख हड़ताल पर बैठे सुदेश गुप्ता की सैटरडे को हालत बिगड़ने लगी. वह बेहोश होकर भी गिर गए. उनका कहना है कि जब तक नगर निगम जलभराव की समस्या का कोई परमानेंट समाधान नहीं करेगा तब तक भूख हड़ताल खत्म नही होगी. मौजूद लोगों ने बताया कि अभी तक नगर निगम से कोई भी अधिकारी या कर्मचारी यहां देखने तक नही आया है. अभी तक यहां पानी निकासी के लिए कोई प्रयास शुरू नहीं किए गए हैं.

-----------------

संजय नगर पहुंचे नगर आयुक्त

हजियापुर और संजय नगर में जलभराव की समस्या का समाधान करने के लिए संजय नगर में ही संपवेल बना है. जहां दोनों एरिया का पानी आता है. लेकिन कुछ दिनों से संपवैल में पानी आ तो रहा था, लेकिन वहां से बाहर नहीं जा पा रहा था. सैटरडे को जब नगर आयुक्त ने पहुंचकर वहां चेक करवाया तो पता चला कि संपवेल के कई पाइप में कचरा भर गया था. जिसकी वजह से कई सारे पाइप बंद हो गए थे. इसके बाद नगर आयुक्त काफी देर वहीं रुके रहे और अपने सामने सम्पवेल की सफाई करवाई.

वार्ड 60 का नाला और सीवर एक ही है. जिसकी वजह से यहां जलभराव की समस्या पैदा हो रही है. साथ ही राजेंद्र नगर इलाके के नालों का सर्वे हो चुका है. प्रस्ताव पास होने के बाद जल्द ही नाला निर्माण शुरू कराया जाएगा.

राजेश श्रीवास्तव, नगर आयुक्त