- संजय नगर का नाला खोलने को लेकर वार्ड 14 और वार्ड 16 के वाशिंदों में ठनी

- बंद किया गया नाला खोलने पहुंची नगर निगम की टीम का महिलाओं ने किया विरोध

BAREILLY:

संजय नगर के जलभराव ने अब तूल पकड़ लिया है. वहां के लोग ही एक दूसरे के विरोध में खड़े होने लगे हे. या यूं कहें कि नगर निगम ने ही संजय नगर के लोगों को दो पक्षों में बांट दिया है. दरअसल पिछले दिनों हुई बारिश के बाद पानी का बहाव संजय नगर में बने सम्पवेल की ओर करने के लिए नगर निगम ने संजय नगर में नया बना नाला बंद करवा दिया था. इसके बाद भी संजय नगर की मुख्य सड़क पर जलभराव की समस्या बनी रही. समस्या के समाधान के लिए थर्सडे को नाला खोलने गई नगर निगम की टीम का लोगों ने विरोध कर दिया और कई महिलाएं नाला न खोले जाने की जिद पर अड़कर बंद नाले पर बैठ गई. जिसके बाद पुलिस ने विरोध कर रही महिलाओं को घसीट कर जीप में डाला और नाला ख्ाुलवाया.

नाला न खोलने पर अड़ी महिलाएं

जलभराव से एक तरफ जहां पूरा संजय नगर ही परेशान है. नाला बंद होने से वार्ड नंबर 14 के लोग को थोड़ी राहत भी थी. लेकिन संजय नगर के वार्ड नंबर 16 के लोगों ने नाला बंद होने से पानी नहीं निकलने का सवाल उठाया तो नगर निगम की टीम नाला खोलने के लिए पहुंची. इस पर वार्ड नंबर 14 के लोगों ने विरोध करना शुरू कर दिया. महिलाओं का कहना था कि अगर नाला खुला तो पहले से पानी भरा है वहां और ज्यादा पानी भर जाएगा. इसलिए वो लोग नाला खुलवाकर अपने घरों के आगे नर्क नहीं फैलाने देंगे. जैसे ही नगर निगम की जेसीबी बंद नाला खोलने के लिए आगे बढ़ी तो वार्ड 14 की कई महिलाएं विरोध करते हुए बंद नाले में ही बैठ गई.

करना पड़ा बल प्रयोग

नाला खोलने का विरोध कर रही महिलाओं को नगर निगम की टीम और पुलिस ने समझाने का प्रयास किया, लेकिन महिलाएं नाले से हटने को तैयार नहीं हुई. इसके बाद महिला पुलिस ने महिलाओं को जबरदस्ती खींचकर वहां से हटाया और जीप में डाल दिया. इसके बाद वार्ड की कई और महिलाएं भी विरोध में जेसीबी के आगे खड़ी हो गई. पुलिस ने उन्हें भी खींचकर जीप में डाल दिया.

नगर निगम में दिया धरना

नाला खुलने के बाद वार्ड नंबर 14 में जलभराव शुरू हो गया. जिसके बाद वार्ड के लोगों ने नगर निगम में जाकर हंगामा काट दिया. उन्होंने जाते ही नगर निगम का गेट बंद कर दिया और गेट के पास ही धरने पर बैठ गए और नगर निगम प्रशासन मुर्दाबाद के नारे भी लगाने लगे. उनका कहना था कि उन्हे कैसे भी इस जलभराव से निजात चाहिए.

फोटो देखकर माने मेयर

नगर निगम में धरने पर बैठे लोगों से मिलने जब मेयर उमेश गौतम पहुंचे तो लोगों ने नाला खुलने से पूरे वार्ड में हो रहे जलभराव की समस्या बताई. लेकिन मेयर इस बात को मानने को तैयार नहीं थे उनका कहना था कि नगर निगम की टीम मौके पर है और वहां जलभराव की कोई समस्या अब नहीं है. लेकिन जब लोगों ने मेयर को अपने मोबाइल में जलभराव के फोटो दिखाए तो मेयर ने खुद मौके पर जाकर स्थिति देखने की बात कही.

हालात देखने पहुंचे मेयर को घेरा

मेयर और नगर आयुक्त जब वार्ड नंबर 14 में मौके का मुआइना करने पहुंचे तो लोगों ने उनका घेराव कर लिया और समस्याएं गिनाने लगे. मेयर ने वार्ड में लगे सम्प वेल का निरीक्षण किया और वह सही से क्यों काम नहीं कर रहा है. इसके बारे में जानकारी ली. बाद में नगर निगम की टीम ने सम्प वेल को जाने वाले पानी के रास्ते को भी साफ किया.

रिक्शे पर बैठकर मेयर ने देखे हालात

जब लोगों ने मेयर को पूरे इलाके का निरीक्षण करने को फोर्स किया तो उन्होंने इलाके का निरीक्षण किया. जिसके बाद थोड़ी दूर चलते ही नाले का गंदा पानी शुरू हो गया. तो मेयर के कदम वहां पर रुक गए. लेकिन लोगों ने आगे का निरीक्षण करने की बात कही तो मेयर को मजबूरन रिक्शे पर बैठना पड़ा जिसके बाद पूरे इलाके का निरीक्षण किया और जल्द से जल्द समस्या के समाधान का आश्वासन दिया.