क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : शहर में आम लोगों को मिलने वाले सप्लाई वाटर पर रसूखदारों का धीरे धीरे कब्जा होता जा रहा है. सरकारी पदाधिकारियों और कर्मियों की मिलीभगत से यह खेल अंधेरी रात के आखिरी पहर में खेला जा रहा है. ऐसे में जिस सप्लाई वाटर के इंतजार में लोग सुबह से लाइन लगाए रहते हैं उस पानी कों देर रात 2.30 से 3.00 बजे के बीच ही सप्लाई कर दिया जा रहा है. यह पानी बड़े होटलों, बैंक्वटों, रिहायशी अपार्टमेंट्स, कमर्शियल कांपलेक्स के हिस्से में जा रहा है. अहम बात है कि देर रात वाटर सप्लाई के चल रहे खेल की जानकारी आम लोगों को नहीं है.

आधी रात होती वाटर सप्लाई

सिटी के खास लोगों के लिए आधी रात वाटर सप्लाई की जा रही है. वाटर सप्लाई में लगे कर्मियों से लेकर उपर बैठे अधिकारियों तक का सांठगांठ से खेल बदस्तूर जारी है. इस सप्लाई वाटर के लिए इन खास लोगों से बाकायदा शुल्क भी वसूली जाती है. पानी के इस कारोबार से जहां खास लोगों को राहत मिल रही है वहीं आम लोग खासे परेशान हैं.

कई इलाकों में पानी की घोर किल्लत

सिटी के कमर्शियल प्लेस माने जाने वाले लालपुर, महात्मा गांधी रोड, कांके रोड, रातू रोड आदि इलाकों में रहने वाले लोगों के लिए सप्लाई पानी की घोर किल्लत है. हालांकि, इन इलाकों के होटलों, बैक्वटों आदि में पानी की कभी परेशानी नहीं होती, लेकिन आम लोगों को कभी 2 दिन बाद तो कभी 4 दिन बाद सप्लाई पानी के दर्शन होते हैं.