हम सभी प्रत्येक दिन भगवान का स्मरण करते हैं, स्नान के बाद अपने इष्ट देव का विधिवत पूजन करते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि पूजा करते समय हमें किन बातों का ध्यान रखना चाहिए। आइए जानते हैं इसके बारे में...

लोग पूजा करने तो बैठ जाते हैं परंतु वह पूजा के दौरान कुछ ऐसी गलतियां भी कर बैठते हैं, जिससे फल मिलने की जगह भगवान के पाप का भागी तक होना पड़ जाता है।

वराह पुराण के 217 अध्याय में भगवान की नित्य पूजा करने के कुछ नियम बताए गए हैं जिनको पूजा करते वक्त ध्यान में जरुर रखना चाहिए।

1. जब भी आप पूजा करने बैठें तो सबसे पहले आपको अपने कपड़ों पर ध्यान देना चाहिए। पूजा करते समय कभी भी गलती से किसी भी व्यक्ति को नीले व काले वस्त्र धारण नहीं करने चाहिए।

2. वराह पुराण में लिखा है कि यदि आप किसी शव यात्रा में से आ रहे हैं तो कभी भी गलती से बिना नहाएं, भगवान की पूजा ना करें।

3. यदि आपके घर में किसी कारण से लड़ाई—झगड़ा हो गया और आप गुस्से में हैं तो उस समय भगवान की पूजा करने के लिए ना बैठें। गुस्से में पूजा करने से भगवान नाराज हो जाते हैं।

4. रोजाना पंचदेव यानि की सूर्य, गणेश, दुर्गा, शिव और विष्णु की पूजा करने से समृद्धि प्राप्त होती है।

5. यदि घर की लाइट चली गई है या फिर मंदिर में किसी कारणवश अंधेरा है तो उस दौरान भगवान की मूर्ति को टच ना करें, अंधरे में भगवान की मूर्ति को छूना महापाप माना जाता है।

6. यदि पूजा करते समय दीपक जला रहे हैं तो ध्यान रखें कि पहले दीपक को धोएं फिर उसके बाद ही उसे जलाएं।

इस दिशा में पूजा-अर्चना से मिलेगी सुख-शांति, बच्‍चे भी करेंगे एकाग्रता से पढ़ाई

सूर्यास्त के बाद ऐसे करें हनुमान जी की पूजा, हर मनोकामना होगी पूरी