देहरादून : मौसम विभाग ने उत्तराखंड में भारी बारिश की आशंका को देखते हुए रेड अलर्ट जारी किया है. आने वाले दो दिन मौसम के लिहाज से भारी पड़ सकते हैं. विभाग के अनुसार इस दौरान पर्वतीय इलाकों में बादल फटने की आशंका है. सुझाव दिया गया है कि तीर्थयात्री फिलहाल पहाड़ी क्षेत्रों की यात्रा टाल दें. अलर्ट को देखते हुए शासन ने आपदा प्रबंधन से जुड़े सभी महकमों को सजग रहने को कहा है. एनडीआरएफ और एसडीआरएफ के साथ ही पुलिस और प्रशासन को भी सतर्क किया गया है. राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि मौसम के लिहाज से रविवार और सोमवार बेहद संवेदनशील हैं. देहरादून, टिहरी, पौड़ी, चमोली, ऊधमसिंह नगर, चम्पावत और नैनीताल में विशेष सावधानी की जरूरत है. इस बीच हरिद्वार और देहरादून में तेज बौछारों का दौर शुरू हो गया है. पहाड़ी सड़कों पर मलबा आने का सिलसिला भी जारी है, 70 से ज्यादा मार्गो पर यातायात बाधित है. लगातार बारिश के कारण प्रदेश में नदियों का बहाव पूरे उफान पर है. गंगा, यमुना, सरयू, गोरी और काली नदी भले ही खतरे के निशान से दूर हों, लेकिन जलस्तर बढ़ने से आसपास के इलाकों में दहशत देखी जा रही है. शनिवार को हरिद्वार से सटे श्यामपुर क्षेत्र में आसमानी बिजली गिरने से एक वन गुर्जर की मौत हो गई. पुलिस के अनुसार देर शाम पीली पड़ाव निवासी इरफान अपने मवेशियों के साथ जंगल से लौट रहा था कि इसी दौरान तेज बारिश शुरू हो गई. बारिश से बचने के लिए इरफान पेड़ के नीचे बैठ गया, तभी आकाशीय बिजली गिर गई और वह गंभीर रूप से झुलस गया.