-गंगोत्री हाईवे पर दरकी पहाड़ी, मलबे में दबा पुजारी

- गंगोत्री और गंगनानी में 65 से ज्यादा यात्रियों के फंसने की सूचना

DEHRADUN: सूबे में मौसम फिर से आफत बन कर आया है. बारिश और आकाशीय बिजली प्रदेश पर भारी पड़ रही है. सोमवार को बारिश के कारण गंगोत्री राजमार्ग पर पहाड़ी दरकने से गंगनानी गर्मकुंड का पुजारी मलबे में दब गया. लगातार भूस्खलन और बारिश के चलते रेसक्यू टीम को दिक्कतों का सामना करना पड़ा. यही नहीं, राजमार्ग बाधित होने से गंगोत्री व गंगनानी में म्भ् से ज्यादा यात्रियों के फंसे होने की सूचना है. रुड़की के कलियर में आकाशीय बिजली की चपेट में आकर तीन युवक झुलस गए, जबकि पौड़ी के थलीसैण क्षेत्र में खड़खिल गांव के पास आकाशीय बिजली गिरने से क्फ् लोग बेसुध हो गए. इनमें सात महिलाएं, पांच बच्चे व एक पुरुष शामिल हैं. मौसम विभाग के मुताबिक मंगलवार को भी राज्य में अनेक स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है.

अचानक दरकी पहाड़ी

उत्तरकाशी क्षेत्र में बारिश होने से गंगोत्री राजमार्ग पर गंगनानी के पास अचानक पहाड़ी दरकी और सड़क से गुजर रहे गंगोत्री धाम यात्रा के प्रमुख पड़ाव गंगनानी के गर्म कुंड के पुजारी सालंग गांव निवासी भरोसाराम (भ्म् वर्ष) मलबे में दब गए. बीआरओ से इसकी सूचना मिलने पर पुलिस-प्रशासन के साथ ही एसडीआरएफ की टीम और बीआरओ के अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए. उत्तरकाशी के जिलाधिकारी दीपेंद्र कुमार चौधरी ने बताया कि रेसक्यू टीम मौके पर है, लेकिन भूस्खलन और बारिश के चलते रेसक्यू में दिक्कतें आ रही हैं.

क्म् पर गिरी आकाशीय बिजली

रुड़की के कलियर क्षेत्र के मकबरा इलाके में स्थित अस्ती में आकाशीय बिजली गिरने से इसकी चपेट में आकर तीन युवक झुलस गए. तीनों का निजी क्लीनिक में उपचार चल रहा है. पौड़ी जिले के थलीसैण क्षेत्र की ग्राम पंचायत चोपड़ा के खड़खिल गांव के पास रविवार शाम करीब सात बजे आकाशीय बिजली गिरी. इससे गांव में क्फ् लोग बेसुध हो गए. इनमें शामिल छह महिलाओं समेत सात लोगों का जिला चिकित्सालय पौड़ी में उपचार कराया गया. एक महिला और पांच बच्चों की स्थिति सामान्य बताई जा रही है. इसके अलावा राज्य के पर्वतीय इलाकों में तमाम संपर्क मार्ग बाधित रहने से लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.