कानपुर। इंग्लैंड आैर वेस्टइंडीज के बीच तीन टेस्ट मैचों की सीरीज का आखिरी मैच विवादों के चलते चर्चा में आ गया। ये विवाद विंडीज गेंदबाज शेनन गैबरियल आैर इंग्लिश कप्तान जो रूट के बीच हुआ। दरअसल गेंदबाजी के दौरान गैबरियल ने रूट के लिए कुछ अभ्रद शब्दों का इस्तेमाल किया था। जिसके जवाब में रूट ने कुछ एेसा कहा जिसे सुनक सब हैरान रह गए। टेलिग्राॅफ पर छपी एक खबर के मुताबिक, रूट ने गैबरियल से कुछ पसर्नल बोला था हालांकि उनकी बात स्टंप माइक में तो रिकाॅर्ड नहीं हुर्इ। मगर स्कार्इ स्पोर्ट्रस की एक फुटेज में रूट को यह कहते देखा गया कि, 'गे होने में कुछ गलत नहीं है।' रूट ने एेसा क्यों कहा, इसको लेकर अब तक सस्पेंस है।
मैदान में भिड़े इंग्लैंड आैर विंडीज के खिलाड़ी,गैबरियल ने कुछ एेसा कह दिया कि रूट नहीं बता पा रहे सबको
आखिर रूट ने एेसा क्यों कहा
जो रूट आैर शेनन गैबरियल की ये जुबानी जंग अंपायरों ने नहीं सुनी। एेसे में इन दोनों पर आर्इसीसी की एंटी रेसिज्म धारा के तहत कोर्इ चार्ज नहीं लग सकता। हालांकि मैदानी अंपायर रोड टकर आैर कुमार धर्मसेना ने गैबरियाल को अभद्र भाषा का इस्तेमाल करने के लिए चेतावनी दी है। मैच के बाद रूट से जब पूछा गया कि गैबरियल ने उनसे क्या कहा था? इसके जवाब में रूट कहते हैं, 'अक्सर लोग मैदान पर कुछ एेसा कह जाते हैं कि बाद में उन्हें इसका पछतावा होता है। मगर इन बातों को मैदान तक ही सीमित रखना चाहिए। ये टेस्ट क्रिकेट है। गैबरियल काफी भावुक हैं, वह अपनी टीम को जीत दिलाने के लिए हरसंभव कोशिश करते हैं। वह एक अच्छे खिलाड़ी हैं आैर शानदार प्रदर्शन कर रहे। टेस्ट में बेस्ट की ये लड़ार्इ वाकर्इ रोचक है।'

आर्इसीसी ने अभद्र भाषा को रोकने के लिए बनाया ये नियम

वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम के कोच रिचर्ड पाइबस का कहना है उन्हें इस घटना के बारे में कुछ नहीं पता। हालांकि उन्होंने यह आश्वासन दिया कि अगर गैबरियल ने कुछ गलत कहा है तो इस पर एक्शन जरूर लिया जाएगा। बता दें पिछले साल आर्इसीसी ने खिलाड़ियों के मैदान पर अभद्र भाषा को लेकर ब्राॅडकाॅस्टर को परमीशन दी कि वह स्टंप माइक में खिलाड़ियों की बातचीत को लाइव करें।

क्रिकेट का वो इकलौता फार्मेट, जहां विराट कोहली नहीं बन पा रहे नंबर 1


Ind vs Aus : सहवाग ने कंगारुआें को बच्चा बनाकर गोद में उठाया, भड़क गए मैथ्यू हेडेन

Cricket News inextlive from Cricket News Desk