-तंत्र-मंत्र से बच्चा होने का दिया झांसा, पूरे फैमिली को खिलाया विषाक्त प्रसाद

-ग्रामीणों ने तांत्रिक की जमकर पिटाई कर पुलिस को सौंप दिया

patna@inext.co.in
PATNA :
जमाना भले साइंस में मंगल की तस्वीरें देख रहा है लेकिन कुछ लोग हैं कि अंधविश्वास से चंगुल से निकल ही नहीं पाए हैं. मंगलवार को सकरा थाना क्षेत्र के विशनपुरबखरी गांव में एक अजीब घटना घटी. तांत्रिक के रूप में पहुंचे ठग ने लूट की मंशा से विषाक्तप्रसाद खिलाकर एक परिवार के छह सदस्यों को बेहोश कर दिया. बेहोश होने वालों में विनोद दास, उसकी पत्‍‌नी नीलम देवी, पुत्र पप्पू दास, विकास कुमार, भगीना रामनाथ दास की पत्‍‌नी शीला देवी, सविता देवी शामिल हैं. हालांकि घर में लूटपाट की उसकी मंशा सफल नहीं हो सकी, क्योंकि परिवार की एक पुत्रवधू उषा देवी ने वह प्रसाद नहीं खाया और परिजनों को अचेत होते देख शोर मचा दिया.

बच्चा होने का दिया था झांसा

शोर सुनकर ग्रामीणों ने ठग की जमकर पिटाई करने के बाद पुलिस को सौंप दिया. पूछताछ में उसने अपना परिचय वैशाली जिले के बेलसर ओपी के जारंगमोनी गांव निवासी नागेश्वर झा के रूप में दी. बताया गया कि विशनपुरबखरी निवासी विनोद दास के भगीना को बच्चा नहीं हो रहा था. इसे लेकर सभी परेशान थे. इसी बीच वे कथित तांत्रिक नागेश्वर झा के संपर्क में आए. उसने तंत्र-मंत्र से बच्चा होने का झांसा देकर परिजनों को जाल में फंसाया. उसके बहकावे में सोमवार की रात को पूजा की गई.

लोगों ने किया पुलिस के हवाले

लगभग साढ़े नौ बजे पूजा-पाठ कराने के बाद सभी सदस्यों को खाने के लिए विषाक्तप्रसाद दिया. प्रसाद खाने के साथ ही परिवार के आधा दर्जन सदस्य बेहोश हो गए, लेकिन उसकी पुत्रवधू उषा देवी ने प्रसाद नहीं खाया. जब सभी सदस्य बेहोश होने लगे तो उसने शोर मचाना शुरू किया. इससे तांत्रिक भाग नहीं सका. शोर सुन पहुंचे ग्रामीणों ने उसे पकड़ लिया और जमकर धुनाई कर दी. बाद में उसे सकरा पुलिस के हवाले कर दिया. उषा देवी ने बताया कि तांत्रिक पूजा पर विश्वास नहीं था इसलिए उसने प्रसाद ग्रहण नहीं किया. सकरा थानाध्यक्ष रविशंकर सिंह ने बताया कि ठग को गिरफ्तार कर लिया गया है.