- एक अप्रैल से सिटी के सभी स्कूलों में शुरू हुई न्यू सेशन की क्लास

- ट्रैफिक पुलिस ने नहीं की थी प्लानिंग, चारों तरफ जाम में फंसे रहे लोग

GORAKHPUR: सोमवार को स्कूलों के नए सेशन की शुरूआत हो गई। पहले दिन न्यूड्रेस, न्यू बुक्स और स्कूल का पहला दिन, स्टूडेंट्स के लिए खास रहा। पहला दिन होने की वजह से स्कूल्स नए बच्चों से खचाखच भरा हुआ था। वहीं छुट्टी होते ही स्कूलों के बाहर पैरेंट्स की भरमार दिखी। इन सब के साथ ही स्कूलों के खुलने से पूरा शहर जाम की वजह से रेंगता रहा। कहीं भी ट्रैफिक पुलिस की सक्रियता नजर नहीं आई। शहर के हर प्रमुख चौराहों से लगाए गली मोहल्ले तक में जाम की स्थिति से गोरखपुराइट्स को जूझना पड़ा। वहीं इसके लिए ट्रैफिक पुलिस की तरफ से पहले से कोई तैयारी न किए जाने के कारण लोगों में गुस्सा भी साफ नजर आ रहा था।

पहले ही स्कूल पहुंच गए पैरेंट्स

एक अप्रैल से आईसीएसई, सीबीएसई और यूपी बोर्ड समेत परिषदीय विद्यालयों के स्कूल सोमवार से खुल गए। एक तरफ जहां एलकेजी बच्चों के पैरेंट्स बैग और पानी की बोतल के साथ लाडले को स्कूल छोड़ते हुए नजर आए तो वहीं स्कूल की छुट्टी के वक्त आधे घंटे पहले ही बच्चे को लेने पहुंच गए। बच्चे के स्कूल से निकलते पहले दिन के क्लास एक्सपीरियंस के बारे में पैरेंट्स पूछते हुए नजर आए। रूस्तमपुर की निशा बताती हैं उनके बेटे का एलकेजी में दाखिला हुआ है। उसके पहले दिन स्कूल जाने की बेहद खुशी थी। विवेक कुमार बताते हैं कि बेटे के पहले दिन की क्लास एक्सपीरियंस देखकर उन्हें काफी अच्छा लगा। इसी तरह सिटी के बाकी स्कूलों का भी यही हाल रहा। लेकिन सिटी के स्कूल्स सोमवार को खुल रहे हैं इसको लेकर ट्रैफिक पुलिस ने कोई तैयारी नहीं की थी। जिसके कारण मोहद्दीपुर, रूस्तमपुर, असुरन चौराहा, गोलघर काली मंदिर के पास दोपहर तक जाम का सामना करना पड़ा।

वर्जन-