सबसे बड़ा संव‍ि‍धान
भारत के संविधान न‍िर्माता के रूप में डॉ भीमराव अम्बेडकर को जाना जाता है। इन्‍होंने भारतीय संव‍िधान के रूप में दुन‍िया का सबसे बड़ा संव‍ि‍धान तैयार क‍िया है। यह हस्‍तल‍िखि‍त संव‍िधान है।

ये है 26 नवंबर को संव‍िधान द‍िवस मनाने की असली वजह,जानें भारतीय संव‍िधान की ये खास बातें

2 साल से ज्‍यादा

भारतीय संव‍िधान में 448 अनुच्छेद, 12 अनुसूचियां और 94 संसोधन शामिल हैं। इसके अलावा इसमें 48 आर्टिकल हैं। संविधान को तैयार करने में 2 साल 11 महीने और 17 दिन लगे थे।

ये है 26 नवंबर को संव‍िधान द‍िवस मनाने की असली वजह,जानें भारतीय संव‍िधान की ये खास बातें

26 नवंबर 1949
26 नवंबर 1949 के द‍िन देश में भारतीय संविधान सभा द्वारा पारि‍त क‍िया गया। इसके ठीक एक साल बाद यह 26 नवंबर 1950 को लोकतांत्रिक सरकार प्रणाली के साथ लागू हुआ।

ये है 26 नवंबर को संव‍िधान द‍िवस मनाने की असली वजह,जानें भारतीय संव‍िधान की ये खास बातें

समान अध‍िकार

भारतीय संविधान में साफ है क‍ि भारत सब धर्मों को मानने वाला देश है। इसका कोई आधिकारिक धर्म नहीं है और न क‍िसी एक धर्म को बढ़ावा देना इसका लक्ष्‍य है। हर नागर‍िक को समान अध‍िकार है।  
 
ये है 26 नवंबर को संव‍िधान द‍िवस मनाने की असली वजह,जानें भारतीय संव‍िधान की ये खास बातें

कानून दिवस
लंबे समय से 26 नंवबर को कानून दिवस के रूप में मनाते आ रहे हैं लेक‍िन 19 नवंबर 2015 पीएम नरेंद्र मोदी ने ऐलान कि‍या क‍ि अब यह द‍िन संविधान दिवस के रूप में मनाया जाएगा।

इन तीन बड़े चेहरों ने की थी 26/11 हमले की तैयारी, भारत की मोस्‍ट वांटेड ल‍िस्‍ट में हैं ये 5 शख्‍स

National News inextlive from India News Desk