- कोई बंदर पर कार्रवाई चाह रहा तो कोई दरवाजा खोलकर सोने वाली पत्नी की कर रहा शिकायत

- रोते बच्चे को चुप कराने से लेकर छत पर चढ़ी भैंस को नीचे उतारने में मदद करने की लगाई गुहार

pankaj.awasthi@inext.co.in

LUCKNOW :

'..मैडम! मेरी पत्नी सुबह चाय नहीं दे रही, मदद करिये' नाराज पत्नी की हरकत से परेशान पति ने यह शिकायत की यूपी-100 में, कॉल अटेंडेंट ने परिवार को बिखरने से बचाने के लिये पीआरवी पर तैनात पुलिसकर्मियों को मदद के लिये भेजा. शिकायतकर्ता के घर पहुंचे पुलिसकर्मियों ने पति-पत्‍‌नी को समझाबुझाकर उनके गिले-शिकवे दूर कराए और पत्नी से चाय बनवाकर पति को पिलाई. पुलिसकर्मियों के इस व्यवहार से प्रभावित दंपति ने दोबारा आपस में झगड़ा न करने का वायदा किया. यूपी-100 के पहले साल ऐसी दर्जनों कॉल्स आई जिसमें कॉलर्स ने अजब-गजब समस्याओं में पुलिस की मदद मांगी. पेश है ऐसी ही रोचक कॉल्स पर एक रिपोर्ट-

भैंस चढ़ गई छत पर

यूपी-100 पर एक कॉल आई, जिसमें कॉलर ने शिकायत की कि उसकी भैंस छत पर चढ़ गई है. कॉट टेकर ने कॉलर को सलाह दी कि वह भैंस को रोटी या चारा दिखाये तो भैंस वापस आ जायेगी. लेकिन, कॉलर ने बेबसी बताते हुए कहा कि असल में उसने भैंस को बहुत मारा है, इसलिए वह नाराज है और उसकी बात नहीं मान रही. आखिरकार कॉल टेकर ने मौके पर पीआरवी को भेजा. पुलिसकर्मियों ने शिकायत को सही पाया और किसी तरह भैंस को वापस नीचे उतारा.

दरवाजा खोलकर सोती है पत्नी

एक कॉलर ने शिकायत की 'मैम मेरी पत्नी दरवाजा खोलकर सोती है.' कॉल टेकर के पूछने पर उस शख्स ने बताया कि दरअसल, उसकी पत्नी को नींद में चलने की आदत है, कॉल टेकर ने सुझाव दिया कि जब वह सो जाये तो दरवाजा बंद कर दिया करो. कॉलर ने बताया कि 'नहीं मैम, अगर मैं ऐसा करूंगा तो वह सुबह उठकर मुझे बहुत पीटेगी' आखिरकार पीआरवी को मौके पर भेजा गया. पुलिसकर्मियों ने महिला को समझाया तो वह दरवाजा बंद कर सोने को राजी हो गई.

बंदर पर कार्रवाई की मांग

एक कॉल आई, कॉलर ने बताया कि 'मैम, बंदर ने हमे बहुत मारा है, क्योंकि मैं आज मंदिर गया था. वहां जमीन पर 12 केले रखे थे. मैने सोचा दो केले ले लूं, ताकि घर पर जाकर मंदिर का प्रसाद दे सकूं. जैसे ही मैं केला उठाकर आगे बढ़ा, वैसे ही एक बंदर ने आकर मेरी पैंट खींची. जब मैं मुड़ा तो मेरे गाल पर जोर-जोर से कई थप्पड़ रसीद कर दिये.' कॉलटेकर ने पूछा इसमें पुलिस क्या कर सकती है, तो कॉलर ने कहा 'मैम, एक बंदर मुझे इतना मारकर गया है और आप बोलती हैं पुलिस क्यों चाहिये?'

पत्नी बजा रही लोटा-थाली

एक रात कॉलर ने फोन करके बताया कि 'मैम तुरंत पुलिस भेजिये, मेरी पत्नी बच्चों को बहुत परेशान कर रही है और घर में बहुत तेज-तेज लोटा-थाली बजा रही है. वह किसी को सोने नहीं दे रही है. मना करने पर मारने दौड़ती है.' कॉल टेकर ने पीआरवी को मौके पर भेजा. पड़ताल में पता चला कि पति से विवाद के बाद पत्नी ऐसी हरकत कर रही थी. पुलिसकर्मियों ने दोनों को समझाबुझाकर उनके बीच सुलह कराई. तब जाकर पत्नी शांत हुई.

बच्चा रोवत है पुलिस भेज दो

एक दिन रात आठ बजे एक शख्स ने यूपी 100 में कॉल किया. वह आवाज से बेहद परेशान लग रहा था और पीछे से बच्चे के रोने की आवाज आ रही थी. उस व्यक्ति ने बताया कि पत्नी घर पर नहीं है और वह बहुत परेशान है. जब उस व्यक्ति से पूछा कि पुलिस सहायता क्यों चाहिये तो उस व्यक्ति ने कहा 'मैडम, बचवा बहुत रोवत है, इका चुप कराये के वास्ते पुलिस भेज दो'

और भी अजब-गजब कॉल्स

इसके अलावा भी कई कॉलर्स ने यूपी 100 को कॉल कर अजब-गजब समस्या बताई और पुलिस की मदद मांगी. कोई शादी में खाना न मिलने की शिकायत कर रहा था तो कोई छह अंडे चोरी की शिकायत पर कार्रवाई चाह रहा था. किसी को दुकान बंद होने के बाद भी बिरयानी चाहिये थी तो किसी को अपने शराबी भाई से शिकायत थी जो नशे में असरानी की एक्टिंग कर रहा था.

यूपी-100 में आने वाली सभी शिकायतों को बेहद प्रोफेशनली ढंग से ट्रीट किया जाता है. हमारी कोशिश होती है कि शिकायतकर्ता की यथासंभव मदद की जाए.

- आदित्य मिश्र, एडीजी, आईटेक्स-यूपी 100