-माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी की पत्‍‌नी सीमा सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर लगाए संगीन आरोप

-कहा, इससे पहले एसटीएफ जेल में जहर देकर कर चुकी है मारने की कोशिश

-एसटीएफ के बड़े अधिकारी और नेताओं पर लगाया आरोप

एनकाउंटर की साजिश एसटीएफ में तैनात
lucknow@inext.co.in
LUCKNOW : 'एसटीएफ अधिकारी मेरे पति का फर्जी एनकाउंटर करने की तैयारी कर रहे हैं.' यह संगीन आरोप लगाया है झांसी जेल में बंद माफिया डॉन प्रेम प्रकाश सिंह उर्फ मुन्ना बजरंगी की पत्‍‌नी सीमा सिंह ने. शुक्रवार को प्रेस क्लब में सीमा ने कहा कि उनके पति के एनकाउंटर की साजिश एसटीएफ में तैनात एक बड़े अधिकारी और कुछ प्रभावशाली राजनेता मिलकर कर रहे हैं. उनके पति बीमार हैं और उनका इलाज चल रहा है लेकिन, बावजूद इसके एसटीएफ और यूपी पुलिस उन्हें जेल से निकालना चाह रही है, ताकि उनका एनकाउंटर किया जा सके.

जेल में जहर देने की हो चुकी है कोशिश
सीमा सिंह ने कहा कि झांसी जेल में बंद उनके पति मुन्ना बजरंगी बीमार हैं. कोर्ट के आदेश पर गठित एम्स के डॉक्टरों का बोर्ड उनका इलाज कर रहा है. डॉक्टरों ने उन्हें यात्रा के लिये अनफिट घोषित कर रखा है. बावजूद इसके दिन में तीन-तीन बार बाहर के डॉक्टरों के पैनल से उनका मेडिकल कराया जा रहा है. दरअसल, उन्हें फर्जी ढंग से स्वस्थ घोषित कर जेल से बाहर निकालकर एनकाउंटर की साजिश रची जा रही है. बीती 9 मार्च को एसटीएफ कानपुर यूनिट में तैनात इंस्पेक्टर घनश्याम यादव ने झांसी जेल में बंद कमलेश के जरिए मुन्ना बजरंगी को खाने में जहर देने की साजिश रची. लेकिन, कमलेश ने एसटीएफ इंस्पेक्टर की इस मंशा की जानकारी मुन्ना बजरंगी को दे दी. उन्होंने बताया कि इसकी शिकायत उन्होंने मानवाधिकार आयोग, कोर्ट और पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों से की है. इसकी जांच वाराणसी के एडीजे द्वारा की जा रही है.

भाई के हत्यारोपियों को दे दी क्लीन चिट
सीमा सिंह ने कहा कि पति मुन्ना बजरंगी के मुकदमों की पैरवी करने वाले उनके भाई पुष्पजीत की साजिश रच कर बीती 5 मार्च 2016 को हत्या कर दी गई. दो साल तक जांच में टालमटोल किया गया और आरोपियों की जगह उनके परिवारीजनों से ही कई बार पूछताछ की गई. जब हाईकोर्ट ने इसमें दखल दिया तो पुलिस ने झूठे साक्ष्यों के आधार पर नामजद अभियुक्तों को क्लीनचिट दे दी. उन्होंने कहा कि जिन आरोपियों को क्लीन चिट दी गई उनमें से एक आरोपी एसटीएफ में तैनात बड़े अधिकारी का रिश्तेदार है. यही अधिकारी अब उनके पति के फर्जी एनकाउंटर की साजिश रच रहा है.