टकराकर अंनियत्रित
जानकारी के मुताबिक कल शाम को जबलपुर में मध्य प्रदेश में जबलपुर के डुमना एयरपोर्ट पर एक बड़ा हादसा टल गया। हालांकि एयपोर्ट पर एक बार फिर सुरक्षा को लेकर होने वाले इंतजामों की पोल खुल गई।  मुंबई से जबलपुर के लिए उड़ान भरने वाले बॉमबार्डियर क्यू400 हवाई जहाज के पायलट ने जबलपुर में 7.30 बजे लैंड किया। इसके बाद रनवे के दौरान वहां पर करीब 20 सुअरों के झुंड आ रहा था। तभी पायलट की नजर उन पर पड़ी और उसने तुरंत हार्ड ब्रेक लगाकर संभलने की कोशिश, लेकिन नाकाम रहा। स्पाइसजेट का विमान सुअरों से टकराकर अंनियत्रित हो रनवे के बाहर चला गया। इस दौरान घास पर गए विमान की गति कम हो गई और वह अचानक से रुक गया। इस घटना से एयपोर्ट पर हड़कंप मच गया। इसके अलावा विमान में सवार यात्री भी घबरा गए। हालांकि इसके बाद एक एक करके सभी यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाला गया।

पायलट की सक्रियता से

इस संबंध में स्‍पाइसजेट एयरलाइंस का कहना है कि पायलट की सक्रियता से ये हादसा टल गया। साथ ही यह भी यह भी कहा जा रहा है पॉयलट रनवे पर जानवर आने जैसी घटनाओं को लेकर प्रशिक्षित नहीं था। जब कि ऐसी घटनाएं इंटरनेशनल सिविल एविवेशन ऑर्गनाइजेशन की समीक्षा में भारत की तस्‍वीर पेश करती हैं। जो कि ठीक नहीं हैं। इस संबंध में डायरेक्‍टरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन का कहना है भारत में करीब 20 ऐसे एयरपोर्ट हैं जहां पर ये घटनाएं होती हैं। अभी हाल ही में बीते सितंबर में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के नागपुर प्रवास के दौरान भी ऐसा मामला सामने आया था। यहां पर एयरपोर्ट परिसर में जंगली सुअरों की घुसपैठ की घटना सामने आई थी।

inextlive from India News Desk

National News inextlive from India News Desk