टोरंटो (पीटीआई)। कनाडा में रहने वाले एक भारतीय जोड़ी को नस्लवाद का समर्थन करने वाले एक व्यक्ति ने सुपरमार्केट के पार्किंग लॉट में छोटी सी विवाद को लेकर धमकी दे दी। उसने कहा कि अगर वे भारत वापस नहीं लौटे तो उनके बच्चों को मार दिया जायेगा। यह घटना रविवार की है, जब भारतीय दंपति की गाड़ी ओन्टारियो में हैमिल्टन के वॉलमार्ट सुपरसेंटर के पार्किंग लॉट में बैक करने के दौरान 47 वर्षीय डेल रॉबर्टसन के ट्रक के सामने आ गई। इसके बाद दोनों के बीच बहस शुरू हुई और इतने में रॉबर्टसन ने कहा कि अपने देश वापस लौट जाओ वरना तुम्हारे बच्चों को मार दूंगा।

जाँच में जुटी पुलिस
इसके बाद भारतीय कपल ने कहा कि "तुम चाहते हो कि मैं अपने देश जाऊं? मैं कनाडाई नागरिक हूं।' फिर रॉबर्टसन ने इसका जवाब दिया 'मुझे दिखाओ। साबित करो। मैं तुम पर विश्वास नहीं करता क्योंकि तुम कनाडाई की तरह बात नहीं करते।' इसके बाद उसने यह भी कहा, 'मैं एक नस्लवादी हूं। मुझे तुम और तुम्हारी वाइफ बिलकुल पसंद नहीं हो, यहां से चले जाओ वरना पहले मैं तुम्हारे बच्चों को मार दूंगा।' बता दें कि दंपति मूल रूप से भारत के हैं लेकिन साथ ही वे एक कनाडाई नागरिक भी हैं. उन्होंने बताया कि वे पिछले सात या आठ वर्षों से वहां रह रहे हैं। हैमिल्टन पुलिस इस घटना की जांच में जुट गई है।

कुछ दिन पहले भारतीय ट्रक ड्राइवर की हत्या
बता दें कि कनाडा के ब्रैंपटन में चार हमलावरों ने कुछ ही दिनों पहले भारत के रहने वाले एक ट्रक ड्राइवर की गोली मारकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने बताया था कि मृतक की पहचान 27 वर्षीय पलविंदर सिंह के रूप में हुई और उन्हें उन्हीं के घर पर गोली मार दी गई थी। पलविंदर 2009 में कनाडा गए थे और वहां ट्रक ड्राइवर का काम किया करते थे।

दुनिया में 5 शरणार्थी समस्‍याएं जो कर रही मानवता को शर्मसार

अमेरिकी नस्‍लभेद पर ओबामा ने कहा, आज भी होता है भेदभाव

International News inextlive from World News Desk