देहरादून के बालावाला इलाक़े में स्थित 'विंडलाज़ स्टील क्राफ़्ट' फ़ैक्ट्री हॉलीवुड फ़िल्मों की शूटिंग में इस्तेमाल होने वाले हथियार बनाती है।
यहां बनते हैं हॉलीवुड के हथियार
1943 में स्थापित हुई इस फ़ैक्ट्री के मालिक सुधीर विंडलाज़ ने बीबीसी को बताया, "हमने हॉलीवुड की फ़िल्में जैसे 'ग्लैडिऐटर' और 'पायरेट्स ऑफ़ कैरेबियन' में इस्तेमाल किए हथियारों का निर्माण किया हैं।"
यहां बनते हैं हॉलीवुड के हथियार
हाल ही में सुधीर ने मशहूर टेलीविज़न सिरीज़ 'गेम ऑफ थ्रोन्स' की शूटिंग के लिए भी हथियारों का निर्माण किया था।

हालांकि बॉलीवुड में अभी तक किसी भी फ़िल्म में इस फ़ैक्ट्री में बने हथियारों का इस्तेमाल नहीं किया गया है।
यहां बनते हैं हॉलीवुड के हथियार
सुधीर इस बारे में कहते हैं, "बॉलीवुड में इतने बड़े पैमाने पर हथियार के ऑर्डर कम ही आते है अधिकतर फ़िल्मों में बजट की कमी के कारण निर्माता स्थानीय दुकानदारों से ही हथियार बनवा लेते हैं।"

वे आगे बताते हैं कि भारत में अगर किसी इंसान को 6 इंच से बड़ा हथियार अपने पास रखना हो तो उन्हें सरकार से लाइसेंस लेना पड़ता हैं।

सुधीर कहते हैं, "हॉलीवुड के निर्माता पहले अपनी सरकार से लाइसेंस लेते हैं फिर हमें हथियार बनाने के लिए कहते हैं, ताकी निर्यात के समय कोई दिक्कत ना हो।"
यहां बनते हैं हॉलीवुड के हथियार
देहरादून में स्थित इस फैक्ट्री में हॉलीवुड के अलावा भारतीय सेना के लिए भी हथियार बनाए जाते हैं।

सुधीर ने बताया "किसी परेड या गार्ड ऑफ़ ऑनर के दौरान इस्तेमाल की जाने वाली तलवारें और अन्य औज़ार का भी निर्माण हमारे यहां किया जाता हैं।"
यहां बनते हैं हॉलीवुड के हथियार
सुधीर के पिता वेद प्रकाश विंडलाज़ ने 1977 में पहली बार इन हथियारों का निर्यात शुरु किया और धीरे-धीरे हॉलीवुड में उनकी पहचान बन गई।

भारत में देहरादून के अलावा मुंबई और बिहार में भी कई कारखाने ऐसे हैं जो बॉलीवुड फ़िल्मों के लिए हथियार और अन्य औज़ार बनाते हैं।

Interesting News inextlive from Interesting News Desk