ranchi@inext.co.in
RANCHI: शराब के कारोबार में सरकार को करीब 500 करोड़ से अधिक का घाटा करा चुकी उत्पाद विभाग अब मुनाफा कमाने के लिए कोई भी हथकंडा अपनाने को तैयार है। इस बार प्राइवेट प्लेयर्स को शराब दुकानों का लाइसेंस देने में सारे नियम-कानून दरकिनार कर दिए गए। न देवालय देखा गया न शिक्षालय की गरिमा का ही ध्यान रखा। जहां जगह मिला वहां मदिरालय खोल दिया गया। सिटी के कोकर, लालपुर, हरमू रोड, हिनू, कांके रोड में जहां मंदिरों के आसपास शराब की दुकानें खुल चुकी हैं, वहीं कोकर में राम लखन सिंह यादव स्कूल और कॉलेज के सामने , दीपाटोली स्थित सुरेन्द्र नाथ स्कूल के बगल में , चुटिया में निजी स्कूल के पास तीन शराब दुकानों का धड़ल्ले से संचालन किया जा रहा है।

फैला रहे गंदगी
शराब की दुकान के आसपास शराब की बोतलों का जमावड़ा लगा रहता है। शराबी यहां शराब पी कर बोतल फेंक देते हैं। शराब दुकानों के आसपास चखना के कई ठेले लग गए हैं जहां हर शाम हुड़दंग होता रहता है। शराबी शराब पी कर सड़क किनारे गंदगी भी फैला देते हैं।

मोरहाबादी में मंदिर के सामने शराब दुकान
|शहर के मोरहाबादी स्थित पंचमुखी मंदिर और हनुमान मंदिर के समीप, कोकर चौक स्थित मंदिर के बगल में, लालपुर चौक के मंदिर के बगल में, हीनू चौक, कांके रोड, हरमू रोड समेत कई इलाकों में मंदिर के सामने शराब बेचकर लोगों की आस्था पर चोट की जा रही है। अगल -बगल के दुकानदार भी इस शराब दुकान से काफी प्रभावित हैं। मंदिर के सामने शराब की दुकान खुल जाने से यहां आनेवाली महिलाएं और लड़कियां भी सुरक्षित नहीं हैं। यहां पूजा करने आनेवाले श्रद्धालुओं और आसपास के अन्य दुकानदारों का कहना है कि मंदिर के सामने शराब की दुकान खोलना सही नहीं है। इस दुकान को कहीं दूसरी जगह शिफट कराया जाना चाहिए।

वीमेंस कॉलेज के पास वाइन शॉप
रांची वीमेंस कॉलेज के पास शराब दुकान कैसे संचालित हो रही है इसका जवाब किसी अधिकारी के पास नहीं है। वर्ष 2016 में भी इस स्थान पर दुकान खोली गयी थी लेकिन बाद में उत्पाद परामर्शदात्री कमिटी की बैठक में फैसला लेकर कॉलेज के पास स्थित शराब दुकान को दूसरी जगह शिफ्ट कराया गया। एर बार फिर शराब दुकान खोले जाने से छात्राओं को खासी परेशानी हो रही है। यहां दिन भर शराबियों का जमावड़ा लगा रहता है।

चुटिया में स्कूल के आसपास शराब दुकानें
चुटिया में एक निजी स्कूल के सामने तीन तीन शराब दुकानें खोल दी गयी हैं। स्थानीय महिलाओं ने कहा कि पहले मात्र एक सरकारी शराब की दुकान वहां थी, लेकिन एक साथ तीन दुकानें खोल दी गईं। जहां शराब की दुकानें खोली गई है, वहां पास में तीन-तीन स्कूल और एक मंदिर भी है। शराब दुकान की वजह से स्कूल के बच्चों पर काफी बुरा प्रभाव पड़ रहा है। हालांकि, महिलाओं के विरोध को देखते हुए पुलिस ने शराब दुकानों को बंद भी कराया लेकिन दुकानदारों का कहना है कि उत्पाद विभाग की ओर से खोलने के लिए लाइसेंस दिया गया है, इसलिए वे दुकानें खोंलेंगे।

लालपुर में बंद हो गए तीन रेस्टोरेंट
लालपुर चौक से कोकर जाने वाली सड़क पर शराब दुकान चलती है। इस शराब दुकान के पास शाम ढलते के साथ भारी संख्या में शराबियों का जमावड़ा लग जाता है। हल्ला हंगामा, मारपीट और हुड़दंग के कारण वहां तीन रेस्टुरेंट बंद कर दिए गए। इसमें पंजाबी किचेन, हॉटलिप्स और उदय रेस्टोरेंट शामिल है।