क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ: राजधानी में ठंड ने दस्तक दे दी है. लेकिन दिन का तापमान अब भी लोगों को गर्मी का एहसास करा रहा है. स्थिति यह है कि लोग दिन में गर्मी और रात को ठिठुराने वाली ठंड से परेशान हैं. वहीं मौसम विभाग के अधिकारियों की मानें तो एक हफ्ते में तापमान में और गिरावट दर्ज की जाएगी. तापमान में इस उतार-चढ़ाव की वजह से लोग बीमार भी पड़ रहे हैं, जिसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि हर दिन ओपीडी में आने वाले मरीजों में वायरल बुखार के 70 परसेंट मरीज हैं.

एक हफ्ते में और गिरेगा तापमान

मौसम विभाग के अनुसार मैक्सीमम टेंपरेचर 27,28 डिग्री रहेगा. वहीं मिनिमम टेंपरेचर में एक दो डिग्री उतार-चढ़ाव की संभावना है. वहीं नवंबर के तीसरे हफ्ते से तापमान में गिरावट दर्ज की जाएगी. सुबह और रात में कोहरा भी छाया रहेगा, जिससे लोगों को ड्राइविंग में परेशानी हो सकती है.

ब्लड प्रेशर के मरीज रहें अलर्ट

टेंपरेचर में गिरावट से लोग वायरल बुखार की चपेट में हैं. वहीं ब्लड प्रेशर के मरीजों की परेशानी ज्यादा बढ़ गई है. हर दिन मेडिसीन ओपीडी में ब्रेन हेमरेज के 7-8 मरीज एडमिट हो रहे हैं. ऐसे में बीपी के मरीजों को ज्यादा अलर्ट रहने की जरूरत है. वहीं ठंड से खुद को बचाकर ही फिट रह सकते हैं.

बेवजह घर से बाहर न निकलें

दिन में गर्मी के कारण लोग वूलेन कपड़े पहनकर नहीं निकलते हैं. इस वजह से शाम को टेंपरेचर गिरते ही लोग इसकी चपेट में आ रहे हैं. इससे बचने के लिए लोगों को वूलेन कपड़े लेकर चलने की जरूरत है. वहीं जरूरत न पड़े तो घर से भी बाहर निकलने से परहेज करें.

अगले एक हफ्ते का तापमान

दिन मैक्सी मिनी

11 नवंबर 27 12

12 नवंबर 28 13

13 नवंबर 28 14

14 नवंबर 28 14

15 नवंबर 27 13

16 नवंबर 27 13

वर्जन

टेंपरेचर फ्लक्चुएशन की वजह से ही लोग बीमार हो रहे हैं. इसमें खुद से लोगों को थोड़ी सावधानी बरतनी होगी. शाम ढलते ही लोग फुल वूलेन कपड़े पहनकर निकलें. शुरुआती ठंड ही लोगों को बीमार करती है. गर्म लिक्विड का सेवन करें. वहीं बुखार और सर्दी-खांसी होने पर तत्काल डॉक्टर से संपर्क करें. बिना सलाह दवा लेना नुकसानदेह हो सकता है.

डॉ. बी कुमार, रिम्स